Corona-positive patient ran by breaking the toilet window, the security personnel outside the ward were not aware | शौचालय की खिड़की तोड़कर भागा कोरोना पॉजिटिव मरीज, वार्ड के बाहर मौजूद सुरक्षा कर्मियों को नहीं लगी भनक

0
48
.

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Corona positive Patient Ran By Breaking The Toilet Window, The Security Personnel Outside The Ward Were Not Aware

प्रयागराज4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रयागराज के स्वरूपरानी अस्पताल में भर्ती एक कोरोना संक्रमित कैदी शौचालय की खिड़की तोड़कर फरार हो गया।

  • एसआरएन अस्पताल के कोविड 19 लेवल 3 वार्ड में भर्ती था मरीज
  • तीन दिन पहले ही गिरफ्तार करके नैनी सेंट्रल जेल लाया गया था कैदी

उत्तर प्रदेश में प्रयागराज के सेंट्रल जेल नैनी का एक कोरोना संक्रमित कैदी शनिवार को स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल के कोविड19 वार्ड के शौचालय की खिड़की तोड़कर फरार हो गया। तीन दिन पहले ही वह नैनी सेंट्रल जेल गिरफ्तार करके लाया गया था। यहां जब उसकी जांच हुई तो कोरोना संक्रमित पाया गया। कैदी के फरार होने के बाद जेल प्रशासन और सिविल पुलिस ने उसे बहुत खोजने का प्रयास किया लेकिन उसका पता नहीं चला। उसके खिलाफ शहर कोतवाली में फरारी का मुकदमा दर्ज कराया गया है। उसकी सुरक्षा ड्यूटी में तैनात पुलिस विभाग के दोनों सिपाहियों के खिलाफ जांच चल रही है।

पुलिस के अनुसार अनुआ गांव निवासी सुशील भरतिया को फूलपुर कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार करके दो सितंबर को नैनी सेंट्रल जेल भेजा था। उस पर चोरी एवं डकैती के सामान ठिकाने लगाने का आरोप था। जेल में दाखिल करने से पहले उसकी कोविड 19 टेस्ट हुआ था, जिसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। जिसकी वजह से उसे जेल में बने कोविड 19 हेल्थ सेंटर में रखा गया था।

तबियत खराब होने के बाद स्वरूप रानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था
पांच सितंबर को सुबह करीब दस बजे वह अचानक जेल में बने हेल्थ सेंटर परिसर में ही गिर गया और तड़पने लगा। उसके मुंह से झाग निकलने लगा था। जिससे जेल में हड़कंप मच गया। हेल्थ सेंटर में मौजूद चिकित्सक ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि उसकी शरीर अकड़ रही है। आनन-फानन में उसे स्वरूप रानी नेहरू चिकित्सालय भेज दिया गया। वहां उसे कोविड 19 वार्ड में भर्ती कराया गया था।

वार्ड के अंदर बने शौचालय से भागा
सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात सिपाहियों के मुताबिक वह अपनी बेड से उठकर वार्ड के अंदर ही बने शौचालय में गया था। उसके बाद लौटा नहीं। जब आधा घंटे से ज्यादा बीत गया तो सिपाहियों ने पूछताछ शुरू की। शौचालय में जाकर देखे तो पता चला कि शौचालय की खिड़की टूटी हुई है और कैदी सुशील भरतिया गायब है। उसके बाद कंट्रोल रूम व जेल प्रशासन को सूचना दी गई। चौतरफा खोजबीन शुरू हुई लेकिन कुछ पता नहीं चला। उसकी खोजबीन दिन भर जारी रही।

वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने कहा कि वार्ड के अंदर सुरक्षाकर्मी जा नहीं सकते हैं। वार्ड का सीसीटीवी कैमरा भी काम नहीं कर रहा है। बाकी जांच की जा रही है। जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here