Lakhimpur Khiri EX MLA Nirvendra Mishra Murder Case Latest News Updates: Inside Story Of Ex MLA Nirvendra Mishra Murder Case In Lakhimpur Khiri Uttar Pradesh | 30 सालों से जमीन पर कब्जे को लेकर चल रहा विवाद, सर्किल अफसर की भूमिका पर उठ रहे सवाल

0
84
.

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lakhimpur Khiri EX MLA Nirvendra Mishra Murder Case Latest News Updates: Inside Story Of Ex MLA Nirvendra Mishra Murder Case In Lakhimpur Khiri Uttar Pradesh

लखीमपुर खीरी2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लखीमपुर में पूर्व विधायक की हत्या के बाद लोगों में आक्रोश है।

  • रविवार दोपहर लखीमपुर खीरी जिले में पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्र की हत्या की गई
  • जमीन को लेकर व्यापारी से था विवाद, पुलिस ने कहा- शरीर पर चोट के निशान नहीं

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में रविवार की दोपहर निघासन विधानसभा से तीन बार विधायक रहे निर्वेंद्र कुमार मिश्रा ‘मुन्ना’ की जमीन के बाद में हत्या कर दी गई। इस दौरान विधायक के पुत्र संजीव भी विरोधियों के हमले में घायल हो गए। इस घटना को लेकर लोगों में तनाव है। बेटे का आरोप है कि हमले में जब पूर्व विधायक गिर गए तो लोगों ने हमलावरों को पकड़ लिया। वे उन्हें घर ले आए, लेकिन सीओ पलिया कुलदीप कुकरेती ने मौके पर पहुंचकर हमलावरों को छुड़ा लिया।

जिस जमीन का विवाद सामने आया है, वह 30 साल पुराना है। जिस पर कब्जे को लेकर कई बार दोनों पक्ष आमने सामने आ चुके हैं। पुलिस के अनुसार हाल ही में पूर्व विधायक और उनके बेटे को शांतिभंग की आशंका में पाबंद भी किया गया था। आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह ने बताया कि सीओ को डीजीपी मुख्यालय संबद्ध करने की कार्रवाई चल रही है।

पूर्व विधायक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजन।

पूर्व विधायक की हत्या के बाद रोते बिलखते परिजन।

पूर्व विधायक ने बेची थी जमीन फिर विवाद क्यों?

पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्र ने करीब 30 साल पहले पलिया के रहने वाले व्यापारी राधेश्याम गुप्ता को त्रिकोलिया बस अड्डे के समीप स्थित साढ़े तीन एकड़ जमीन बेची थी। इसके बाद जमीन की पैमाइश के लिए अर्जी दाखिल की गई। जब जमीन की पैमाइश हुई तो वह साढ़े चार एकड़ निकली। सारा पेंच यहीं आकर फंस गया। पूर्व विधायक का कहना था कि जितनी जमीन बेची है कब्जा भी उतने पर मिले। जबकि, राधेश्याम गुप्ता पूरी जमीन पर काबिज होना चाहते थे। मामला न्यायालय में विचाराधीन है। अब राधेश्याम गुप्ता के बेटे पूरी जमीन पर कब्जा पाना चाहते हैं। इस बात को लेकर आए दिन विवाद होता रहता था।

मौके पर डीएम व एसपी।

मौके पर डीएम व एसपी।

सीओ के खिलाफ लोगों में आक्रोश

रविवार की दोपहर लगभग 11 बजे विपक्षीगण अपने साथियों सहित विवादित भूमि पर कब्जा करने के उद्देश्य से पहुंचे। जिसकी सूचना पर मौके पर पहुंचे पूर्व विधायक मुन्ना व उनके पुत्र संजीव कुमार को विपक्षियों ने साथियों सहित मारा पीटा। इसमें पूर्व विधायक की मौके पर ही मौत हो गयी और उनका पुत्र संजीव घायल हो गया। इस बात की सूचना जब त्रिकौलिया-पढुआ गांव में पहुंची तो ग्रामीणों ने कुछ आरोपियों को घेर कर पकड़ लिया और गांव ले आए। इन्हें बाद में मौके पर पहुंचे सीओ पलिया कुलदीप कुकरेती ने पुलिस बल का प्रयोग करते हुए मौके से छुड़वा दिया। पुलिस की इस कार्यशैली को लेकर क्षेत्र वासियों में भारी रोष व्याप्त है। देर शाम तक पूर्व विधायक का शव उनके आवास पर रखा रहा। मौके पर भारी संख्या मे क्षेत्रवासी व कई थानों की पुलिस मौजूद हैं। अभी तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी और पूर्व विधायक के आवास पर हजारों की भीड़ जमा है।

पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्र।- फाइल फोटो

पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्र।- फाइल फोटो

आमरण अनशन के लिए थे मशहूर
पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मुन्ना वर्ष 1989, 1991 में निर्दलीय और 1993 में समाजवादी पार्टी से निघासन विधानसभा से विधायक रहे। वे क्षेत्रीय जन समस्याओं को लेकर करीब 50 बार धरना प्रदर्शन एवं अमरण अनशन करने के चलते क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। विधायक रहते हुए बेलरायां रेलवे स्टेशन पर हजारों लोगो के साथ किए गए अनशन की गूंज विधानसभा तक में खूब गूंजी थी।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here