Lucknow Police commissioner Sujit Pandey Launch Commissionerate Website For Passport Verification and Character Certificate | जनता की सहूलियत के लिए पुलिस कमिश्नर ने लांच की वेबसाइट; घर बैठे मिलेगा चरित्र प्रमाण पत्र, पासपोर्ट का होगा सत्यापन

0
37
.

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow Police Commissioner Sujit Pandey Launch Commissionerate Website For Passport Verification And Character Certificate

लखनऊ5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय ने लांच की वेबसाइट।

  • पांच हजार जानकारियों से लैस है वेबसाइट
  • सत्यापन में देरी करने पर संबंधित थाने को मिलेगी नोटिस

लखनऊ कमिश्नरेट में रहने वाले लोगों को अब चरित्र सत्यापन कराना हो या किराएदारों का सत्यापन के लिए थानों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। 50 रुपए का शुल्क जमा करने के बाद एक सप्ताह से 15 दिन के भीतर प्रमाण पत्र ऑनलाइन मिल जाएगा। सोमवार को पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने लखनऊ कमिश्नरेट की वेबसाइट (Lucknopolice.up.gov.in) लांच की। इसके जरिए चरित्र सत्यापन, पासपोर्ट, सत्यापन, लोक शिकायत, कम्युनिटी पुलिसिंग व अन्य सेवाओं से संबंधित करीब 5 हजार जानकारियां आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

सुजीत पांडेय ने कहा कि, वेबसाइट ‘वयं रक्षणाय सेवामहे’ स्लोगन (यानी कि आपकी सेवा करना हमारा लक्ष्य) के साथ लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट सुरक्षा का संदेश देगी। इस दौरान ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर निलाब्जा चौधरी भी मौजूद रहे।

वेबसाइट का प्रदर्शन किया गया।

वेबसाइट का प्रदर्शन किया गया।

सत्यापन में देरी पर थानों को मिलेगा नोटिस

पहले चरित्र सत्यापन दो से तीन महीनों के लंबे समय और पुलिस थानों, डीसीआरबी, इंटेलिजेंस के दफ्तरों में घूमकर तमाम मुश्किलों के बाद हो पाता था। अब सत्यापन में देरी होने पर संबंधित थाने को नोटिस भेजा जाएगा। इस वेबसाइट की मदद से कोई भी कंपनी साइट पर जाकर संबंधित के चरित्र सत्यापन का पता लगा सकती है। वेरिफिकेशन होते ही मैसेज मिल जाएगा। सत्यापन की प्रक्रिया हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओं में सम्भव होगी। मकान मालिक किराएदार के बारे में पुलिस को जानकारी देंगे

नजर रखने में मदद करेगी तीसरी आंख
सुजीत पांडेय ने कहा कि लखनऊ में कुल 12 हजार 188 कैमरों को लोकेट किया गया है। लगभग 1156 कैमरे बैंकों में लगवाए गए हैं। ऐसे लगभग कुल 14 से साढ़े 14 सभी कैमरों को 112 से मैप किया गया है। दो महीनों में सभी बैंक कैश वैन के कैमरों को इंटीग्रेट करके हम एक कंट्रोल रूम से जोड़ेंगे और इन्हें मॉनिटर भी कर सकेंगे। जिससे किसी भी घटना के घटित होने पर कम समय में ही पुलिस अपनी कार्यवाही पूरी कर सकेगी।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here