कंगना रनौत को मिला रामदास अठावले का साथ

0
41
.

हाइलाइट्स:

  • केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि उनकी पार्टी देगी कंगना रनौत को सुरक्षा
  • 9 सितंबर को आरपीआई के कार्यकर्ता मुंबई एयरपोर्ट से लेकर उनके घर तक देंगे सुरक्षा
  • कंगना रनौत ने मंत्री रामदास अठावले को फोन कर जताया आभार
  • अठावले ने कहा कि कंगना ने मुंबई या महाराष्ट्र की बुराई नहीं कि थी बल्कि राज्य सरकार को आइना दिखाया था

मुंबई
फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को महाराष्ट्र में अब सुरक्षा देने के लिए रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया अठावले गुट के सर्वेसर्वा और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सुरक्षा देने का भरोसा दिया है। अठावले ने कहा है कि 9 तारीख को जब कंगना रनौत मुंबई में दाखिल होंगी तब एयरपोर्ट से लेकर उनके घर तक आरपीआई के कार्यकर्ता उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। यदि कोई भी कंगना रनौत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करेगा तो आरपीआई के कार्यकर्ता उन्हें सबक जरूर सिखाएंगे।

कंगना को अपनी बात कहने का हक़ है
केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि लोकतंत्र में सबको अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है। कंगना रनौत ने भी उसी अधिकार का प्रयोग किया है। उन्होंने मुंबई या महाराष्ट्र की कोई बुराई नहीं की है। बल्कि राज्य सरकार को आईना दिखाया है। जिस प्रकार से राज्य सरकार कंगना को मुंबई में आने से रोक रही है यह बिल्कुल गलत बात है।

कंगना रनौत ने माना आभार
फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी अठावले को फोन कर सुरक्षा और समर्थन देने के लिए आभार जताया है। कंगना ने कहा कि वह शुरू से ही मुंबई और महाराष्ट्र को पसंद करती हैं। अठावले ने भी उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र के विरोध में मैं एक भी शब्द बर्दाश्त नहीं करूंगा लेकिन सरकार के ऊपर की गई टिप्पणी को मुंबई और महाराष्ट्र के ऊपर की गई टिप्पणी बताकर, बात का बतंगड़ बनाकर अगर कंगना को मुंबई आने से रोकने की साजिश है तो मैं ऐसा नहीं होने दूंगा।

संजय राउत को ऐसा नहीं बोलना चाहिए
रामदास अठावले ने संजय रावत को भी कहा कि भले ही राज्य में महाविकास अघाड़ी की सरकार हो और शिवसेना उसमें सहयोगी दल फिर भी संजय राऊत को इस तरह के बयान देने से बचना चाहिए। संजय राउत को कंगना रनौत को धमकी नहीं देनी चाहिए थी। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में कंगना राणावत ने राज्य सरकार के विरुद्ध टिप्पणी की थी। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि उन्हें मुंबई आने से ही रोक दिया जाए।

कंगना पर आक्रामक हुई महाराष्ट्र सरकार
महाराष्ट्र सरकार अब कंगना पर चौतरफा हमले कर रही है। केंद्र सरकार द्वारा कंगना रनौत को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा के बाद राज्य सरकार महारष्ट्र बीजेपी और केंद्र सरकार भी पर तीखे हमले कर रही है। अघाड़ी सरकार ने कहा है कि केंद्र सरकार ने महारष्ट्र की जनता का अपमान किया है। ऐसे में 9 सितम्बर यानी बुधवार को कंगना ने मुंबई में आने का ऐलान किया है। कंगना के मुंबई के आने के बाद राज्य के सियासी पारा और भी चढ़ने के आसार जताये जा रहे हैं । एक तरसफ बीएमसी ने कंगना को क्वारंटीन करने के लिए कहा है तो दूसरी तरफ शिवसेना की महिला विंग ने कंगना को सबक सिखाने की बात कही है जबकि बीएमसी ने कंगना के दफ्तर पर चल रहे है निर्माण कार्य को भी बंद करवा दिया है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here