टेंट व्यवसाय से जुड़े लोगों ने सड़कों पर उतरकर किया प्रदर्शन; डीएम को सौंपा ज्ञापन, बोले- जब सब खुल गया तो हम पर पाबंदी क्यों

0
27
.

उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर तेजी से फैलता जा रहा है। कोरोना की वजह से काम काज के साथ ही रोजगार और धंधे भी प्रभावित हुए हैं। हालांकि राज्य सरकार ने अब साप्ताहिक बंदी को समाप्त कर दिया है लेकिन अभी व्यापारियों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। वाराणसी में 300 से ज्यादा टेंट व्यापारियों ने अब अनलॉक में मिली छूट को लेकर मोर्चा खोल दिया है।

वाराणसी में टेंट व्यवसायी एसोसिएशन के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे व्यापारियों ने मंगलवार को जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के कार्यालय पहुंचकर पत्रक दिया। उन्होंने कहा कि ट्रेन, बस, व्यावसायिक मंडियां,ऑफिस,पर्यटन स्थल सब खुल गया है। हमें खुलकर काम करने की आज़ादी क्यों नहीं दी जा रही है।

एडीएम ने पत्रक लेकर आगे विचार को कहा। ​​​​​​एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि 300 से ज्यादा टेंट व्यापारी,100 से ज्यादा लान वाले, 200 के ऊपर रोड लाईट, बैंड बाजा,डेकोरेशन, बिजली हलवाई समेत छोटे बड़े 2500 से ज्यादा परिवार प्रभावित होंगे जबकि बसों में लोग भर भर के यात्रा कर रहे।

6 महीने से काम बंद होने से टूट गया है व्यापारी समाज

महामंत्री भीम सिंह ने बताया कि सारे व्यापार खोल दिये गए हैं। अप्रैल,मई,जून का महीना लॉकडाउन में निकल गया। नंवबर, दिसंबर में लगन है। 4 से 5 दिन ही काम मिलता है। ऐसे में 80 लोगों की बुकिंग में कारीगर को क्या देंगे,परिवार कैसे चलेगा। औसतन एक टेंट व्यवसायी 5 लाख तक ही कमा पाता है। 6 महीने से कोई काम नहीं हुआ है। सरकार हमसे सौतेला व्यवहार क्यों कर रही है। जबकि हम लोग हर गाइडलाइन फॉलो करने को तैयार हैं। सैकड़ों वेटरों का परिवार हम सभी पर ही निर्भर हैं। उनके बारे में भी सोचना चाहिए।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

वाराणसी में टेट व्यवसाय से जुड़े लोगों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया और डीएम को एक पत्रक सौंपा।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here