Drugs de-addiction: क्या होती है नशे की लत, जानें दिमाग को कैसे करती है प्रभावित | health – News in Hindi

0
87
.

किसी भी तरह के नशे की लत (Addiction) नुकसानदायक ही होती है. नशे से छुटकारा पाना भी लगभग सभी लोग चाहते हैं, लेकिन यह आसान काम नहीं है क्योंकि जो व्यक्ति नशे का आदी है, उसका शरीर उसे इसकी इजाजत ही नहीं देता. नशा छोड़ने की कोशिश करने पर शरीर पर ऐसे-ऐसे आफ्टर इफेक्ट दिखते हैं कि व्यक्ति फिर से नशे की ओर मुड़ जाता है. उसका आत्मविश्वास जवाब दे देता है. ऐसा क्यों होता है? एडिक्शन से कुछ लोगों को छुटकारा क्यों नहीं मिलता? कैसे नशे की बुरी लत को छोड़कर जिंदगी में आगे बढ़ें? इस आर्टिकल में हम इन्ही प्रश्नों का उत्तर तलाशेंगे.

लत क्या है और यह कैसे समस्या बनती है

नशे की लत एक क्रॉनिक, बार-बार लौटने वाली बीमारी है. इससे दिमाग में लंबे समय तक चलने वाले कैमिकल बदलाव होते हैं, जो नशे की लत को छूटने नहीं देते. लत का मतलब यह है कि दिमाग उस नशे का आदी हो जाता है. यह आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए तो हानिकारक और खतरनाक होता ही है, सामाजिक और आर्थिक स्थित के लिए भी अच्छा नहीं होता. लत की वजह से व्यवहारिक दिक्कत हो सकती है. खुद पर नियंत्रण नहीं रहना, याददाश्त कमजोर होना, अपने कार्यों पर किसी तरह का नियंत्रण नहीं होना, बेवजह जोखिम मोल लेना लत से जुड़ी समस्याएं हैं.दिमाग को कैसे प्रभावित करता है नशा?

हालांकि, हर नशा अपने आप में अलग होता है, लेकिन उनका दिमाग पर असर एक जैसा ही होता है. दिमाग में एक सर्किट होता है, जिसे रिवार्ड पाथवे कहते हैं। जब दिमाग उत्तेजित होता है तो यह डोपामाइन नाम का कैमिकल छोड़ता है. डोपामाइन रिलीज होने पर व्यक्ति को आनंद की अनुभूति होती है. लगभग सभी तरह से नशे के उत्पाद दिमाग पर इस तरह का असर दिखाते हैं, यही वजह है कि लोग जल्दी ही नशे के आदी हो जाते हैं.

गंभीर मामलों में लंबे समय तक किसी नशे का इस्तेमाल करने से दिमाग पर इसका स्थायी असर पड़ सकता है. यह असर नशा करना छोड़ देने के बाद भी कई वर्षों तक रह सकता है. यही कारण है कि नशा छोड़ देने के वर्षों बाद भी किसी व्यक्ति के फिर से नशे के चंगुल में दोबारा फंसने की आशंका होती है.

कुछ लोगों को लत क्यों लग जाती है

कई अन्य बीमारियों की तरह ही नशे की लत के मामले में भी ऐसा होता है कि कुछ लोग आसानी से इसके शिकार हो जाते हैं, जबकि कुछ लोग नहीं. अधिक जोखिम वाले व्यक्ति में नशे की लत लगने की आशंका भी ज्यादा होती है. कुछ लोगों में प्रोटेक्टिव फैक्टर होते हैं जो उन्हें नशे का आदी नहीं बनने देते. हालांकि, कोई भी ऐसा फैक्टर नहीं है जो यह स्पष्ट कर सके कि फलां व्यक्ति नशे का आदी होगा या नहीं. किसी व्यक्ति के नशे के आदी होने के पीछे उसकी आनुवंशिकता (जीन), लिंग, जातीयता, उसके विकास के चरण और आसपास का सामाजिक वातावरण (घर, स्कूल और आसपास के हालात) मायने रखते हैं.

लत से छुटकारा कैसे पाएं

वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि डायबिटीज और हाइपरटेंशन जैसी क्रोनिक बीमारियों की तरह ही नशे की लत का भी इलाज किया जा सकता है. शुगर और बीपी की तरह नशे की लत भी क्रोनिक और बार-बार लौटने वाली बीमारी है. नशे की लत से छुटकारा पाने और इस लत के दोबारा लगने से बचने के लिए लंबा इलाज चलता है. नशा छोड़ देने के बावजूद दिमाग में हुए बदलाव लंबे वक्त तक प्रभावित करते हैं. वैसे लत भी हाइपर टेंशन की तरह है, जिसमें लंबे समय तक इलाज, दवाएं और जीवनशैली में बदलाव करने की जरूरत होती है. चलिए जानते हैं नशे की लत छुड़ाने के लिए कैसे इलाज किया जाता है.

डिटॉक्सीफिकेशन

नशे की लत छुड़ाने के लिए डिटॉक्सीफिकेशन पहला कदम है. इसके तहत आपके शरीर में मौजूद नशे के हर कतरे को बाहर करना और तलब को दूर करना होता है. 80 फीसद मामलों में इलाज दोबारा नशे की तलब को दबाने के लिए किया जाता है. यदि किसी व्यक्ति को एक से ज्यादा चीजों का नशा हो तो उसे उतनी ही चीजों के लिए विड्रावल सिम्टम्स को कम करने वाली दवा लेनी होती है.

काउंसलिंग और बिहैवियरल थेरेपी

यह काउंसिलिग का सबसे प्रचलित रूप है. जरूरत के अनुसार यह थेरेपी व्यक्तिगत, ग्रुप या पारिवारिक आधार पर दी जा सकती है. यह एक लंबी प्रक्रिया है, लेकिन जैसे-जैसे सुधार होता जाता है, वैसे-वैसे सिटिंग्स कम होती जाती हैं. इनमें कॉन्गनिटिव बिहैवियरल थेरेपी, मल्टी डायमेंशनल फैमिली थेरेपी और मोटिवेशनल इंटरव्यूइंग थेरेपी शामिल हैं.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, नशे की लत के प्रकार, लक्षण, कारण, बचाव, उपचार और दवा पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here