बॉर्डर पर तनाव के बीच भारत ने चीन को दिया एक और तगड़ा झटका, अब इस कंपनी को घोषित किया अयोग्य…

0
40
India major blow China NHAI company declared unfit
.

नई दिल्ली. भारत और चीन बॉर्डर पर तनाव के बीच मोदी सरकार ने चीन को एक और बड़ा झटका दिया है। केंद्र सरकार ने चीन की अब इस कंपनी को अयोग्य घोषित कर दिया है।

केंद्र सरकार के राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने चीन की एक कंपनी को अयोग्य घोषित कर दिया है। दरअसल पश्चिम बंगाल में गंगा नदी पर एक निर्माणाधीन पुल का गार्डर गिरने के मामले वह कंपनी जिम्मेदार पाई गई थी। यही वजह है कि अब कंपनी अगले तीन साल तक NHAI की किसी भी परियोजना में भाग नहीं ले सकती है। इसी के साथ तीन अन्य कंसलटेंट को भी डिबार किया गया है।

जांच में फंसी कंपनी

पश्चिम बंगाल में एनएच 34 पर फरक्का से रानीगंज के हिस्से को फोर लेन सड़क में बदला जा रहा है और इसी हिस्से में गंगा नदी पर एक पुल बनाया जा रहा है। उसी पुल पर गार्डर लांचिंग के दौरान बीते 16 फरवरी को दुर्घटना हुई थी और दो लोगों की जान चली गई थी। इस मामले में पुल के विशेषज्ञों से जांच करायी गई थी। जांच प्रक्रिया में ही चीन की यह कंपनी भी जिम्मेदार पाई गई।

NHAI के मुताबिक इस परियोजना को कार्यरूप दे रही चीन की कंपनी क्विंगदाओ कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग (Qingdao Construction Engineering) ग्रुप कंपनी लिमिटेड और घरेलू कंपनी आरकेईसी प्रोजेक्ट्स लिमिटेड (RKEC Projects Ltd) पर संयुक्त रूप से भविष्य में किसी परियोजना में भागीदार बनने से रोक लगा दी है।

इस वजह से गिरा था पुल

इस परियेाजना में हुई दुर्घटना के बाद NHAI ने मामले की जांच के लिए एक पुल विशेषज्ञ की नियुक्ति की थी। विशेषज्ञ ने अपनी जांच में घटना का जिम्मेदार ठेकेदार, डिजाइन कंसलटेंट और लॉन्चिंग गार्डर के डिजाइनर के बीच कोओर्डिनेशन की कमी को पाया। जांच में ठेकेदार और कंसलटेंट को डिजाइन और लॉन्चिंग गार्डर प्रणाली में दोष के लिए जिम्मेदार ठहराया गया। जांच के दौरान वह इस असफलता के लिए कोई ठोस कारण पेश नहीं कर सके थे।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here