UP: मंत्री पर गंभीर आरोप लगाकर फंदे से झूल गया स्वास्थ्य विभाग का ड्राइवर,

0
45
.

मृतक ने दबंग कर्जदारों से परेशान होकर खुदकुशी करने की बात वीडियो में कही है. (सांकेतिक तस्वीर)

ललितपुर में सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के एक ड्राइवर ने खुदकुशी (Suicide) कर ली. लेकिन उससे पहले उसने एक वीडियो बनाया, जिसमें मंत्री (Minister) से लेकर दबंग कर्जदारों पर गंभीर आरोप लगाये. अब ये वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है.

ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर में एक स्वास्थकर्मी के सुसाइड (Suicide) से पूर्व का वीडियो वायरल (Video Viral) होने से पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया है. वायरल वीडियो में स्वास्थकर्मी ने दबंग कर्जदारों से परेशान होकर आत्महत्या के लिए मजबूर होने की बात कही है. इसके साथ ही उसने प्रदेश के एक मंत्री (Minister) पर भी गम्भीर आरोप लगाया है. ये वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है.

वायरल वीडियो में मंत्री पर 20 लाख ऐंठने का आरोप 

सदर कोतवाली इलाके के आजादपुरा निवासी राजकुमार दुबे ने सोमवार को अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक सीएमओ ऑफिस में ड्राइवर के पद पर कार्यरत था. घटना के दूसरे दिन मृतक का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में ड्राइवर कहता हुआ दिखाई दे रहा है कि वह दबंग कर्जदारों से बहुत परेशान है. डीएम, एसपी से गुहार लगाते हुए कह रहा है कि राजेन्द्र सिंह ने उसका एक मकान और 20 लाख रुपया हड़प लिया. जेएन सिंह ने पूर्व में उसे एक सेक्स स्कैंडल में फंसा दिया. प्रदेश सरकार के एक मंत्री ने सेक्स स्कैंडल में बचाने के लिए 20 लाख रुपये ऐंठ लिए. लेकिन बचाया नहीं. बृजेश खरे और मनोज सतभैया अब उससे 50 हजार रुपया मांग रहे हैं.

वीडियो में एक और व्यक्ति का जिक्र है, जिसका नाम पप्पू खान है. मृतक के अनुसार पप्पू खान ने उसकी पत्नी से उसके मकान की रजिस्ट्री करा ली है और साढ़े चार लाख रुपये भी मांग रहा है. राजकुमार दुबे ने पूरे वीडियो में कर्जदारों से प्रताड़ित होकर आत्महत्या करने की बात कही है.

वीडियो में कही बातों पर परिजनों ने जताई अनभिज्ञता 

इस मामले को लेकर जब मृतक के परिजनों से बात की गई तो मृतक के पुत्र ने पूरे मामले में अनभिज्ञता जाहिर की है. उसने कहा है कि पिताजी जेल से आने के बाद मानसिक रूप से परेशान जरूर थे, लेकिन उन्होंने कभी भी अपनी समस्या हमलोगों से शेयर नहीं की. इस मामले में पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है. मामला हाईप्रोफाइल लोगों से जुड़ होने के कारण कोई कुछ नहीं बोल रहा है.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here