कुछ इस तरह योग करता है 10 साल का ध्रुव, हुनर देख हो जाएंगे पानी-पानी | health – News in Hindi

0
49
.

हाल ही में योगा फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित योगासन स्पोर्ट्स में ध्रुव ने कांस्य पदक जीता है. (फोटो साभारः Youtube/Dhruv Sharma Yoga)

ध्रुव शर्मा (Dhruv Sharma) के हुनर का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि श्रीलंका (Sri Lanka) में उसका योग (Yoga) देखकर लोग हैरान हो गए थे. योग प्रदर्शन के दौरान वहां पर मौजूद भारतीय व विदेशी अधिकारियों ने ध्रुव को ‘मोम का गुड्डा’ तक कह डाला था.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 9, 2020, 4:36 PM IST

सिर्फ 10 साल का ध्रुव शर्मा योग की दुनिया का वो उभरता सितारा है जिसके बारे में लोगों ने सोचा ही नहीं होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित ध्रुव शर्मा विदेशों में भी योग का प्रचार प्रसार करने में लगे हुए हैं. इस कड़ी में वह कई देशों में योग का शानदार प्रदर्शन कर चुका है. ध्रुव शर्मा के हुनर का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि श्रीलंका में उसका योग देखकर लोग हैरान हो गए थे. योग प्रदर्शन के दौरान वहां पर मौजूद भारतीय व विदेशी अधिकारियों ने ध्रुव को ‘मोम का गुड्डा’ तक कह डाला था. अपनी प्रतिभा के बल पर वह योग की कई प्रतिस्पर्धा में सैकड़ों मेडल और अवॉर्ड जीत चुका है.

योग के प्रचार के लिए श्रीलंका भेजा गया
उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद इलाके के वसुंधरा सेक्टर-2 में मां विनीता शर्मा के साथ रहने वाले ध्रुव शर्मा इंदिरापुरम स्थित सेंट टेरेसा स्कूल में 6ठीं कक्षा में पढ़ते हैं. विनीता का कहना है कि ध्रुव 6 साल की उम्र में टीवी पर बाबा रामदेव को देखकर योग करता था. इस तरह समय बीतने के साथ साथ ध्रुव योग के कठिन आसन को भी आसानी से करने लगा. स्कूल की ओर से साल 2016 में उसे योग के प्रचार के लिए श्रीलंका भेजा गया. वहां पर उसने हैरतअंगेज प्रदर्शन किया जिसे लोगों ने खूब सराहा. इससे ध्रुव का मनोबल बढ़ा और उसने योग की दुनिया में ही कुछ नया करने का फैसला कर लिया.

स्टूडेंट ऑफ द ईयर की ट्रॉफीध्रुव शर्मा योग करने के साथ साथ पढ़ाई में भी बहुत अच्छे हैं. बीते पांच साल में वह कभी भी स्कूल में अनुपस्थित नहीं हुआ. योगाभ्यास करने की वजह से वह बीमार भी कम पड़ता है. हर वर्ष वह सभी विषयों में 100 फीसद अंक हासिल कर स्कूल में टॉप करता है. उसे हर वर्ष स्टूडेंट ऑफ द ईयर की ट्रॉफी भी मिलती है. ध्रुव का कहना है कि वह योग के जरिए देश का मान बढ़ाना चाहता है.

अधेड़ और बुजुर्ग भी छात्र बनकर योग सीखते हैं
अपने घर के पास पार्क में ध्रुव लोगों को योग कराता है. उसकी योग क्लास में न सिर्फ हम उम्र छात्र-छात्राएं आते हैं, बल्कि अधेड़ और बुजुर्ग भी छात्र बनकर योग सीखते हैं. लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन क्लासेज शुरू होने पर सेंट टेरेसा स्कूल की ओर से ऑनलाइन योग कराया जाता है. इसमें ध्रुव ही योग कराता है. ध्रुव ने ध्रुव शर्मा योग नाम से फेसबुक पेज, इंस्टाग्राम और यू-ट्यूब चैनल बना रखा है. हाल ही में उसने एक मिनट का फिटनेस वीडियो भी शेयर किया है जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं. ध्रुव विभिन्न टीवी चैनल पर योग दिवस पर योग करा चुका है.

इसे भी पढ़ेंः कुछ अलग है ‘क्वीन’ कंगना रनौत का स्टाइल, उनके फैशन के इस कदर दीवाने हैं लोग

2 मिनट 28 सेकंड में 10 सबसे कठिन योगासन
ध्रुव की मां विनीता शर्मा का कहना है कि हाल ही में योगा फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित योगासन स्पोर्ट्स में ध्रुव कांस्य पदक जीता है. इसमें देशभर के योग खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था. 18 वर्ष आयु वर्ग में ध्रुव ने 2 मिनट 28 सेकंड में तेरी मिट्टी में मिल जावां गाने पर 10 सबसे कठिन योगासन करके दिखाए थे. ध्रुव अब एशियन योगा चैंपियनशिप में भाग लेने की तैयारी में जुटा है. फिलहाल रोजाना शाम 4 से 6 बजे तक ध्रुव योग करता है. ध्रुव मलेशिया में होने वाली एशियन योगा चैंपियनशिप की तैयारी में जुटा है जो कोरोना काल के चलते अब अक्टूबर या नवंबर में ऑनलाइन तरीके से होगा.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here