40 की उम्र में खुद का ऐसे रखें ख्याल, नहीं होगी कोई बीमारी

0
30
.

एक समय के बाद शरीर में कमजोरी (Weakness) आना शुरू हो जाती है. उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर की कोशिकाएं (Tissues) कमजोरी होना शुरू हो जाती है. खासतौर पर 40 की उम्र के बाद तो शारीरिक बीमारियां घेरना शुरू कर देती हैं. इसलिए जरूरी है कि इस दौरान शरीर का खास ख्याल रखा जाए. दिनचर्या में यदि कुछ विशेष बदलाव किए जाएं तो खतरनाक बीमारियों से बचा जा सकता है. इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि 40 साल की उम्र में खुद को कैसे फिट रखें. साथ ही खान-पान में ऐसी क्या चीजें शामिल करें, जिससे तमाम बीमारियों से दूर रहें.

खान-पान में जरूर शामिल करें ये चीजें

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, खाने में फल, हरी सब्जियां, साबूत अनाज और फैट-फ्री डेयरी उत्पाद खाने चाहिए. शरीर में कोशिकाओं के निर्माण के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता है और इसके लिए मछली, अंडे, लीन मीट्स, बीन्स वगैरह खाने चाहिए.नमक और मीठा खाने से करें परहेज

मोटापे और दिल की बीमारियों से बचने के लिए खाने में सैचुरेटेड फैट, ट्रांसफैट, कोलेस्ट्रॉल, नमक और शक्कर का सेवन कम से कम कर देना चाहिए. इसके अलावा तली हुई खाद्य सामग्री और बाहरी खाने से भी परहेज करना चाहिए.

व्यायाम को अपनी दिनचर्या में करें शामिल

वैसे तो एक्सरसाइज आपकी दिनचर्या में शामिल होनी चाहिए, लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो इस उम्र के लोगों को तो इस बात का बिल्कुल ध्यान रखना चाहिए. शरीर में इकट्ठा हो रहे टॉक्सिन को निकालने के लिए व्यायाम करना बेहद जरूरी होता है. हर दिन वॉक के लिए करीब आधा घंटा निकाल सकते हैं या साइकलिंग कर सकते हैं. इससे दिल को स्वस्थ रखने, मांसपेशियां मजबूत बनाने और शरीर में संतलुन बने रहने में मदद मिलती है. शारीरिक रूप से एक्टिव रहने से डिमेंशिया जैसी बीमारी होने का खतरा भी कम होने लगता है.

वजन बढ़ना रोक लेंगे तो नहीं होगी कोई बीमारी

अधिकतर लोगों का 40 साल की उम्र की बाद वजन बढ़ने लगता है और वजन भी वसा के रूप में बढ़ता है. इस कारण कई बीमारियां शरीर को घेर लेती है. 40 की उम्र के बाद अपने वजन पर कंट्रोल करना बेहद जरूरी है. अगर आपका वजन बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) के अनुसार ज्यादा है, तो इसे घटाने का प्रयास जरूर शुरू कर देना चाहिए.

नशीले पदार्थों का सेवन करने से बचें

myUpchar से जुड़ीं डॉ. अप्रीतम गोयल के अनुसार, लाइफस्टाइल में बदलाव जरूरी है. यूं तो नशा किसी भी उम्र में अच्छा नहीं है, लेकिन 40 की उम्र के बाद नशे का सेवन बिल्कुल बंद कर देना चाहिए. अगर सिगरेट या शराब की लत है तो कोशिश करें कि इसे धीरे-धीरे करके छोड़ दें, क्योंकि ये आदतें शरीर में उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रोल आदि को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार रहती हैं. इन व्यसनों के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के साथ फेफड़ों पर भी हानिकारक असर होता है.

ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन व फाइबर फूड खाएं

40 की उम्र के बाद शरीर में एंटीऑक्सीडेंट तत्वों की जरूरत ज्यादा होती है क्योंकि शरीर में कोशिकाओं के निर्माण के लिए प्रोटीन व फाइबर फूड की आवश्यकता ज्यादा होती है. अंकुरित भोजन, पनीर, सलाद, फल, हरी सब्जियों आदि का सेवन ज्यादा करना चाहिए. इसके अलावा यह भी ध्यान रखना चाहिए कि रात मे हल्का भोजन ही करें ताकि पाचन आसानी से हो सके. खाना खाने के बाद 15 से 20 मिनट की वॉक जरूर करें.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, एजिंग बढ़ती उम्र के लक्षण कम करने के आयुर्वेदिक उपाय तरीके टिप्स पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here