घर ध्वस्त किए जाने पर बौखलाई कंगना रनौत ने वीडियो जारी कर मुंबई सरकार के लिए कहा ये सब..

0
48
.

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के बांद्रा स्थित बंगले में ‘अवैध रूप से किए गए निर्माण’ को ध्वस्त कर दिया है। इस ध्वस्तीकरण के बाद कंगना के औफिस को गिराने की कार्रवाई शुरु हो गई थी लेकिन कंगना के ऑफिस को बीएमसीद्वारा गिराए जाने की मुहिम पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने फिलहाल रोक लगा दी है।आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत के ऑफिस में फिलहाल तोड़फोड़ करने पर रोक लगाई है।

बीएमसी द्वारा कंगना के औफिस गिराए जाने की कार्रवाई के बीच बुधवार को कंगना हाईकोर्ट पहुंची थीं, कंगना की याचिका के बाद कोर्ट ने बीएमसी से जवाब मांगा है। बता दें कि इसके पहले हाईकोर्ट ने एक आदेश में कहा था कि 30 सितंबर तक कोई भी बिल्डिंग ध्वस्त नहीं की जाएगी।

यूपी: अतीक अहमद पर बड़ी कार्रवाई, तीन और संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश…

कंगना का घर किया ध्वस्त

बताते चलें कि महाराष्ट्र सरकार के अंतर्गत आने वाली बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने बुधवार को कंगना रनौत के बांद्रा स्थित बंगले में ‘अवैध रूप से किए गए निर्माण’ को ध्वस्त कर दिया गया है।
हिमाचल से आज मुंबई आ रही कंगना महाराष्ट्र सरकार पर लगातार हमलावर हैं।
उन्होंने कहा है कि शिवसेना के साथ हुए उनके विवाद के बाद महाराष्ट्र सरकार उनको निशाना बना रही है।

खबरों के मुताबिक बीएमसी अधिकारियों ने बताया कि बीएमसी ने बुधवार की सुबह 11 बजे ही तोड़फोड़ का काम शुरू किया था। इसके पहले ही बीएमसी ने उनके बंगले पर एक नोटिस लगाया था, जिसमें निर्माण गिराने की बात लिखी थी, जिसके बाद बीएमसी की एक टीम बांद्रा के पाली हिल के घर पर बुल्डोज़र और खुदाई मशीनें लेकर पहुंच गई और निगम की मंजूरी के बिना बनाए गए निर्माण को गिरा दिया गया।

बता दें कंगना रनौत ने एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि, मेरा दफ्तर तोड़कर तुमने मेरे ऊपर बहुत बड़ा अहसान किया है। अब मुझे पता चला कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी।

Lucknow: CMS गोमतीनगर के कई कर्मचारी मिले कोरोना पॉजिटिव, दहशत में परिवार। Many employees of CMS Gomtinagar found Corona positive

कंगना ने इसके पहले अपने ऑफिस की तस्वीरें शेयर करते हुए कहा था कि ‘महाराष्ट्र सरकार के गुंडे मेरी प्रॉपर्टी पर हैं और मेरी प्रॉपर्टी को गिराने की कोशिश कर रहे हैं.’ उन्होंने एक ट्वीट में महाराष्ट्र सरकार को बाबर और बीएमसी के कर्मचारियों को उसकी सेना बताया था।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here