Kangana Ranaut Controversy: Sanjay Raut says- Matter is over for me, Kangana is welcome to live in Mumbai | शिवसेना नेता ने कहा- मैंने उन्हें कोई धमकी नहीं दी थी, मेरे लिए उनका मामला खत्म, मुंबई में रहने के लिए उनका स्वागत है

0
39
.

 

3 सितंबर को कंगना रनोट के उस बयान के साथ संजय राउत का विवाद शुरू हुआ था, जिसमें उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी।

  • संजय राउत ने एक स्टेटमेंट में कहा- बीएमसी के एक्शन के लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं
  • एक बयान में राउत ने कंगना को हरामखोर कहा था, फिर इसका मतलब नॉटी बताया

शिवसेना नेता संजय राउत की मानें तो कंगना रनोट के साथ उनका मामला खत्म हो गया है। उन्होंने एक स्टेटमेंट में कहा, “मैंने कभी कंगना रनोट को धमकी नहीं दी। मैंने बस मुंबई को पीओके से लिंक करने पर गुस्सा जताया था। बीएमसी ने उनके खिलाफ जो एक्शन लिया है, उसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं। मेरे लिए मामला खत्म हो गया है। मुंबई में रहने के लिए कंगना का स्वागत है।”

6 दिन तक ऐसे छाया रहा मामला

  • 3 सितंबर: कंगना ने मुंबई की तुलना पीओके से की

कंगना रनोट और संजय राउत के बीच का विवाद 3 सितंबर को खुलकर सामने आया था, जब एक्ट्रेस ने एक ट्वीट में आरोप लगाया कि शिवसेना नेता ने उन्हें मुंबई न आने की धमकी दी है। साथ ही लिखा कि उन्हें मुंबई पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की तरह क्यों दिख रही है?

  • 4 सितंबर: कंगना की चुनौती ने विवाद को हवा दी

कंगना ने एक ट्वीट में चुनौती दी कि वे 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं। किसी के बाप में दम हो तो रोक ले। इस पर संजय राउत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी और कहा कि मुंबई मराठियों के बाप की है। शिवसेना ने कंगना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू किया। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने यहां तक कह दिया कि कंगना को मुंबई में रहने का कोई अधिकार नहीं है।

  • 5 सितंबर: राउत ने कंगना को हरामखोर कहा

जब एक न्यूज चैनल के रिपोर्टर ने संजय राउत से पूछा कि कंगना 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं और उन्होंने उन्हें रोकने की चुनौती दी है। ऐसे में वे क्या करेंगे? जवाब में राउत ने रिपोर्टर से कहा था, “आप क्या एक हरामखोर लड़की की वकालत कर रहे हैं?” कंगना ने इस बयान पर सख्त ऐतराज जताया था।

  • 6 सितंबर: कंगना ने राउत पर निशाना साधा

कंगना रनोट ने 6 सितंबर को एक वीडियो जारी कर संजय राउत को उनकी मानसिकता के लिए घेरा। उन्होंने कहा कि देश में महिलाओं के बलात्कार और घरेलू हिंसा के लिए राउत जैसे लोगों की मानसिकता ही जिम्मेदार है, जो शोषण करने वालों को बढ़ावा देती है।

  • 7 सितंबर: राउत ने स्टेटमेंट पर सफाई दी

संजय राउत ने एक इंटरव्यू में अपने हरामखोर वाले स्टेटमेंट पर सफाई दी और कहा कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया। वे तो कंगना नॉटी बता रहे थे। इसी रोज केंद्र सरकार ने कगना को Y केटेगरी सुरक्षा दी तो शिवसेना ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था।

  • 8 सितंबर : कंगना को बीएमसी का नोटिस

कंगना रनोट के पाली हिल स्थित ऑफिस पर बीएमसी की टीम ने छापा मारा। गेट पर अवैध निर्माण का नोटिस चस्पा किया और 24 घंटे में उनसे जवाब मांगा गया। इसी रोज महाराष्ट्र सरकार ने कंगना के खिलाफ ड्रग्स की जांच के आदेश भी दिए।

  • 9 सितंबर: कंगना का ऑफिस तोड़ा गया

बीएमसी की टीम ने कंगना रनोट के ऑफिस पर बुलडोजर चला दिया। अंदर भी तोड़फोड़ की गई। कंगना भारी सुरक्षा के बीच मुंबई पहुंचीं और एक वीडियो जारी कर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा। उन्होंने धमकी भरे लहजे में कहा, “आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा।”

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here