राम मंदिर निर्माण: 5 महीनों में होगा भव्य राम मंदिर के 1200 खम्भों का निर्माण

0
28
ram temple construction
Ayodhya: Replica of the proposed Ram Mandir on display at Karsewakpuram, in Ayodhya, Monday, Nov. 11, 2019. (PTI Photo/Nand Kumar) (PTI11_11_2019_000052B)
.

अयोध्या। राम मंदिर निर्माण का काम जल्द शुरु होने वाला है। राम मंदिर के लिए जमीन के अंदर बनने वाले 1200 खम्भों पर काम सबसे पहले शुरू होगा। आपको बता दें कि ये काम 2 से 3 दिन में शुरु हो जाएगा और सभी 1200 खम्भे चार से पांच महीने में बन के तैयार हो जाएंगे। बता दें कि इसी पर मंदिर की इमारत खड़ी की जाएगी।

नृपेन्द्र मिश्र ने कहा कि अयोध्या हमारी राष्ट्रीयता और राष्ट्रीय एकता का प्रतिबिम्ब है। राम मंदिर को लेकर देश और दुनिया के तमाम लोग आस्था रखते हैं यह निर्माण उनकी अपेक्षाओं के अनुरूप समय पर पूरा किया जाएगा। अयोध्या के कारण कई देशों से हमारे सांस्कृतिक रिश्ते हैं। अयोध्या के निर्माण से उन रिश्तों में और गहराई आएगी। उन्होंने कहा की रामराज्य का सपना गांधी जी ने भी देखा था। आज की सरकार उस सपने को पूरा कर रही है।

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने बताया कि आर्किटेक्ट फर्म सोमपुरा ने इसे डिजाइन किया है। इसके साथ आईआईटी चेन्नई यहां की मिट्टी की जांच कर रहा है। केंद्र सरकार चाहती है कि अयोध्या का विकास अंतरराष्ट्रीय मानक पर हो। उन्होंने कहना है कि अयोध्या पुराना शहर है इसलिए उसके विकास में अलग तरह की चुनौतियां आएंगी। प्रदेश सरकार अयोध्या के विकास के लिए परियोजना तैयार कर रही है। श्री मिश्र का कहना है कि मंदिर निर्माण में सबसे बड़ी चुनौती राजस्थान से पत्थरों को लाना, उन्हें तराशना और फिर स्थापित करना है।

MEERUT:मॉर्निंग वॉक करने गए जिम कोच की गोली मारकर हत्या

चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने कार्यस्थल का निरीक्षण किया

मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र मंगलवार को पूर्वाह्न करीब दस बजे सर्किट हाउस से रामजन्मभूमि पहुंचे और रामलला के दर्शन किए। इसके बाद उन्होंने परिसर में मंदिर निर्माण के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने परिसर के उन जर्जर भवनों को भी देखा, जिन्हें ध्वस्त किया जा रहा है। इस निरीक्षण के दौरान रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय, ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र, डीएम अनुज कुमार झा, एडीजी सुरक्षा वीके सिंह, एडीजी कानून-व्यवस्था एसएन साबत, कमिश्नर एमपी अग्रवाल, आईजी जोन डॉ. संदीप गुप्त, डीआईजी/एसएसपी दीपक कुमार, एसपी सुरक्षा पंकज कुमार, एडीएम कानून व्यवस्था पीडी गुप्त, सीओ परिसर अमर सिंह तथा पीएसी व सीआरपीएफ के कमांडेंट मौजूद थे।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here