कंगना रनौत के ऑफिस में तोड़फोड़ पर संजय निरुपम बोले

0
33
.

मुंबई
कंगना रनौत (kangana Ranaut) के ऑफिस पर बुलडोजर चलाने का विरोध हो रहा है। यहां तक की शिवसेना सरकार में सहयोगी पार्टियां भी इसका विरोध कर रही है। एनसीप चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा कि बीएमसी की कार्रवाई ने अनावश्यक रूप से (कंगना को) बोलने का अवसर दे दिया है। वहीं अब संजय निरुपम (sanjay nirupam) ने भी इस एक्शन को प्रतिशोध से ओत-प्रोत बताया है।

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने ट्वीट करके कहा कि कंगना का ऑफिस अवैध था या उसे डिमॉलिश करने का तरीका ? क्योंकि हाई कोर्ट ने कार्रवाई को गलत माना और तत्काल रोक लगा दी। उन्होंने इस कार्रवाई को प्रतिशोध से ओत-प्रोत बताया। संजय निरुपम ने कहा कि राजनीति की उम्र बहुत छोटी होती है। कहीं एक ऑफिस के चक्कर में शिवसेना का डिमॉलिशन न शुरु हो जाए।

पवार ने भी की थी मुखालफत
वहीं दूसरी तरफ पवार ने कंगना के मुंबई स्थित कार्यालय पर बुलडोजर चलने के बाद तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे बेहद गैर-जरूरी ऐक्शन करार दिया है। एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि हर कोई जानता है कि मुंबई पुलिस सुरक्षा के लिए काम करती है। आपको इन लोगों को प्रचार नहीं देना चाहिए। वहीं सोशल मीडिया पर भी उद्धव ठाकरे सरकार को इसे लेकर आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा।

बीएमसी पर है शिवसेना का कब्जा
बता दें कि बीएमसी पर शिवसेना का कब्जा है। इसके अलावा राज्य में भी पार्टी सत्ता में है। बीते दिनों शिवसेना नेता संजय राउत और कंगना रनौत के बीच जुबानी जंग ने सियासी रूप ले लिया। कंगना ने मुंबई को पीओके बताते हुए असुरक्षित होने की बात कही तो हिमाचल प्रदेश सरकार की सिफारिश पर केंद्र सरकार ने उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा दे दी।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here