अनुराग कश्यप ने खुद माना कि सुशांत के साथ काम नहीं करना चाहता था क्योंकि वह प्रॉब्लमैटिक था, शेयर की सुशांत की मैनेजर से हुई चैट

0
24
.

सुशांत सिंह राजपूत का बॉलीवुड ने बायकॉट कर दिया था। यह बात उनकी मौत के 85 दिनों के बाद कन्फर्म होने लगी है। ऐसा इसलिए क्योंकि अब एंटी मोदी गैंग के डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने इस बात को स्वीकार किया है कि वे सुशांत के साथ काम नहीं करना चाहते थे। अनुराग ने ट्विटर पर कुछ स्क्रीन शॉट्स शेयर किए हैं।

मौत से 3 हफ्ते पहले की बातचीत

पहले स्क्रीन शॉट को शेयर करते हुए अनुराग ने लिखा है- मैं ऐसा करने के लिए माफी चाहता हूं। लेकिन यह सुशांत की मौत से 3 हफ्ते पहले हुई चैट है। उनके मैनेजर के साथ जो 22 मई को हुई थी। अभी तक इसे ओपन नहीं किया, लेकिन अब इसकी जरूरत है। हां ये सच है, मैं अपने निजी कारणों के चलते उसके साथ काम नहीं करना चाहता था। हालांकि चैट में मैनेजर के नाम को छिपा दिया है।

चैट में लिखी हैं ये बातें

  • मैनेजर- मैं जानता हूं कि आपको यह पसंद नहीं कि लोग एक्टर्स सजेस्ट करें। लेकिन मैं ऐसा कर सकता हूं ये मेरा मानना है। प्लीज, सुशांत को अपने दिमाग में रखिए। अगर आप मानते हैं कि वो कहीं भी आपके साथ फिट हो सकता है। एक ऑडियंस के नाते मैं आप दोनों को कुछ अद्भुत करते हुए देखना पसंद करूंगा।
  • अनुराग – वह बहुत प्रॉब्लमैटिक आदमी है, मैं उसे तब से जानता हूं जब उसने शुरुआत की थी। और उसे पहली फिल्म काई पो छे में लिया था।

14 जून को भी हुई थी अनुराग की बात

इसके बाद अनुराग ने दो और स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं जो सुशांत की मौत के दिन यानी 14 जून के हैं। अनुराग ने लिखा- मेरी बात उनके मैनेजर से सुशांत की मौत के दिन भी हुई थी। ये आपको वे चीजें दिखाएगा, अगर आप देखना चाहो। ऐसा करना भयानक है, लेकिन इसे वापस नहीं ले सकते हैं। खासकर उन लोगों के लिए जो ये सोचते हैं कि हमें परिवार की परवाह नहीं थी। मैं हूं जितना ईमानदार हो सकता हूं। अब मुझे जज करो जैसा आप सब चाहते हो।

इन चैट्स में लिखा है-

  • मैंनेजर – मैंने कभी आपका फीडबैक शेयर नहीं किया और उन्होंने कभी मुझसे नहीं पूछा।
  • अनुराग- हां मैं भी रणवीर के पास चला गया था, क्यों कि मुकेश ने मुझसे कहा था सुशांत उसकी फिल्म करना चाहता था। इसके बाद सुशांत ने मुझे घूरा था, फिर मैंने फिल्म बंद कर दी।
  • मैनेजर- उनके मन में आपके लिए और गट्‌टू के लिए बहुत रिस्पैक्ट थी।
  • अनुराग- हम हमेशा से ही ईमानदार थे। इसलिए मैं अपसेट था। और मैं जानता हूं मुकेश के पास कुछ था। इसलिए मैं इन दोनों से दूर ही रहा। मैं यह सोचता हूं कि अपनी शिकायत को अलग रखकर मुझे एक बार उससे बात कर लेनी चाहिए थी। अब बहुत ही बेकार लग रहा है।
  • मैनेजर – इस लॉकडाउन और काम शुरू न कर पाने की मजबूरी ने भी बहुत नुकसान किया है। ये मेरा मानना है।
  • अनुराग – हां।
  • मैनेजर – आप खुद को दोषी मत मानो, मैं कसम से कह रहा हूं वह आपको ईमानदारी और आपके जीवन जीने के ढंग के लिए पसंद करता था। भगवान उसकी आत्मा को शांत दे।
  • अनुराग- उसका परिवार आया है।
  • मैनेजर- ध्यान रखिए अपना, और प्लीज खुद को दोषी मत मानिए।
  • अनुराग- मैं उम्मीद करता हूं उसे वह शांति मिल गई होगी।
  • मैनेजर- उसकी बहनें हैं वहां।
  • अनुराग- वे छोटी हैं या बड़ी हैं। शादी हो गई। यह वक्त उनके लिए ज्यादा कठिन है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here