Ground Report: COVID-19 crisis hits the hotel industry the most, losses of up to 5 lakh crores are expected – ग्राउंड रिपोर्ट : होटल इंडस्ट्री पर कोरोना संकट की सबसे ज्यादा मार, 5 लाख करोड़ तक के नुकसान का अंदेशा

0
36
.

दिल्‍ली में 9 सितंबर से ट्रायल बेस पर बार खोलने की इजाजत, सरकार ने जारी की SOP

होटल उद्योग बड़े संकट में फंस गया है. देश में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से बिज़नेस नीचे गिरता जा रहा है. एनडीटीवी की टीम जब दिल्ली के ला मेरिडियन होटल पहुंची तो मेन लॉबी लगभग खाली थी. यह लॉबी आम दिनों में भरी रहती थी, आज यहां पर बड़ा हिस्सा खाली पड़ा है. 

मेरिडियन होटल की जीएम मीना भाटिया ने एनडीटीवी से कहा कि हमारा बिज़नेस पिछले साल के मुकाबले सिर्फ 20% से 25% रह गया है. जिस तरह से देश में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं हम औसत का 30% बिज़नेस ही इस साल कर पाएंगे.

साफ़ है, कमाई घटती जा रही है, 700 कर्मचारियों का बोझ बढ़ता जा रहा है. ग्राहक सुरक्षित महसूस करें, इसके लिए सोशल डिस्टन्सिंग से लेकर एंटी-वायरस ऑपरेशन्स के विशेष इंतज़ाम किये जा रहे हैं. रेस्टोरेंट में कोई भी ग्राहक आता है उससे पहले टेबल को सैनेटाइज किया जाता है.

फरीदाबाद में OYO होटल में चल रहा था कसीनो, दो लड़कियों सहित 12 गिरफ्तार

मेनू कार्ड भी कांटेक्ट लेस्स है. ग्राहक को खुद ही मोबाइल से मेनू सेलेक्ट करने की सुविधा है, पेमेंट भी मोबाइल से ही कर सकते हैं. फिलहाल ये कोरोना संकट देश के ऐसे हज़ारों होटल चेन्स को झेलना पड़ रहा है. उद्योग संघ CII ने पर्यटन मंत्रालय को आगाह किया है की हॉस्पिटैलिटी उद्योग को 5 लाख करोड़ तक के नुकसान का अंदेशा है. संकट बड़ा है, सरकार को इस सेक्टर को इस संकट से उबरने के लिए बड़े स्टार पर हस्तक्षेप करना होगा.

कोविड की वजह से आतिथ्य क्षेत्र यानी हॉस्पिटैलिटी सेक्टर (Hospitality Sector) में पड़ने वाले प्रभाव पर होटल अनुसंधान रिपोर्ट (अनुमानित राजस्व हानि) CII द्वारा जानकारी मिली है. ट्रैवल एंड टूरिज्म से जुड़ी पूरी वैल्यू चेन लगभग 5 लाख करोड़ या यूएस $65.57 बिलियन का होने की संभावना है, अकेले संगठित क्षेत्र के पास 25 बिलियन यूएस डॉलर का नुकसान होने की संभावना है. आंकड़े काफी चिंताजनक हैं और उद्योग को अस्तित्व के लिए तत्काल उपायों की आवश्यकता है.

कोरोना : काम नहीं शुरू होने से मुंबई के फेरीवाले परेशान, BMC ने मांगा लॉकडाउन का किराया

CII ने पर्यटन सचिव को यह रिपोर्ट सौंपी. रिपोर्ट की माने तो भारत में यात्रा और पर्यटन उद्योग देश की जीडीपी के 9.2% के लिए जिम्मेदार है और 8.1% आबादी को रोजगार देता है, हमारा कुल योगदान लगभग 28 बिलियन अमेरिकी डॉलर है.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here