Mumbai Congress president: मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष का फैसला लटकने से कांग्रेसी परेशान – congress workers are upset over non appointment of mumbai congress president

0
37
.
मुंबई
महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस और मुंबई कांग्रेस में संभावित बदलावों की प्रक्रिया लंबी खींच जाने के कारण महाराष्ट्र कांग्रेस और मुंबई कांग्रेस के आम कार्यकर्ताओं में बेचैनी है। लंबे समय से प्रदेश नेतृत्व और मुंबई नेतृत्व में बदलाव की चर्चा चल रही है, लेकिन कांग्रेस आलाकमान अपनी ही उलझनों से मुक्त नहीं हो पा रहा है। लिहाजा महाराष्ट्र में नेतृत्व परिवर्तन के बारे में कोई फैसला नहीं हो पा रहा।

ऐसे में मुंबई कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड आगामी मुंबई महानगर पालिका चुनावों की तैयारियों को लेकर अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने में जुट गए हैं। पिछले दिनों उन्होंने मुंबई के सभी कांग्रेस जिला अध्यक्षों की बैठक ली। अब जबकि मुंबई महानगर पालिका चुनाव की तैयारियां दूसरी पार्टियों में भीतर ही भीतर शुरू हो गई हैं ऐसे में कांग्रेस आलाकमान के किसी संभावित फैसले का इंतजार किए बिना मुंबई कांग्रेस के नेता स्थानीय स्तर पर अपनी तैयारियों में लग गए हैं।

जिला अध्यक्षों की बैठक में अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड ने यह स्पष्ट संकेत दिए हैं कि मुंबई महानगर पालिका का चुनाव संभवत उन्हीं की अध्यक्षता में लड़ा जाएगा, इसलिए उन्होंने सभी जिलाध्यक्षों को ज्यादा से ज्यादा नगरसेवक चुनकर लाने के लिए अभी से रणनीति बनाने को कहा है। इससे पहले गायकवाड ने मुंबई कांग्रेस के प्रवक्ताओं की की बैठक ली जिसमें उन्होंने पार्टी की विचारधारा को आक्रामकता के साथ जनता के बीच रखने की अपील की।

बता दें कि मिलिंद देवड़ा द्वारा मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से एकनाथ गायकवाड मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। उन्हें मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष बने एक साल पूरा हो गया है। पिछले दिनों मुंबई कांग्रेस में उनकी वर्ष पूर्ति समारोह का आयोजन किया था। हालांकि कोरोना वायरस के चलते यह आयोजन सादगी पूर्ण था, लेकिन इस आयोजन में पिछले एक साल में एकनाथ गायकवाड के नेतृत्व में मुंबई कांग्रेस द्वारा किए गए कार्यों की जमकर प्रशंसा की गई। मुंबई कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित सादगी पूर्ण कार्यक्रम में एकनाथ गायकवाड के कार्यकाल में मुंबई कांग्रेस द्वारा किए गए कार्यों पर खुलकर चर्चा हुई।

गायकवाड के करीबी नेताओं ने इस बात पर संतोष जताया कि कोरोना संक्रमण के काल में मुंबई कांग्रेस गायकवाड के नेतृत्व में आम जनता को राहत पहुंचाने में तन मन धन से जुटी रही। यहां तक कहा गया कि अब तक मुंबई कांग्रेस के सारे धड़े जो अलग-अलग खेमों की राजनीति करते रहे हैं गायकवाड के नेतृत्व में एकजुट हुए हैं। दावा तो यहां तक किया गया कि मुंबई कांग्रेस में सबको साथ लेकर अब तक इतना अच्छा काम किसी के कार्यकाल में नहीं हुआ है।

हालांकि मुंबई कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन का इंतजार कर रहे मुंबई कांग्रेस में दूसरे धड़े के नेताओं का कहना है कि कोरोना के काल में कोई भी अध्यक्ष होता मानवता के हक में पार्टी एकजुट होकर काम करती ही।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here