navneet rana on sanjay raut: kangana ranaut case: सांसद नवनीत राणा ने उद्धव ठाकरे से पूछा, महिलाओं का अपमान करने वाले संजय राउत के साथ हैं या नहीं – mp navneet rana asks uddhav thackeray to make it clear whether he is with with sanjay raut or not

0
30
.

हाइलाइट्स:

  • सांसद नवनीत राणा ने शिवसेना नेता संजय राउत के महिलाओं अपमान करने के लगाया आरोप और कहा संजय राउत इस्तीफ़ा दें
  • नवनीत राणा ने मुख्यमंत्री से कहा कि वह यह स्पष्ट करें कि वे महिलाओं का अपमान करने वाले संजय राउत के साथ हैं या फिर नहीं
  • उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की राजनीति को अलग दिशा में इ जाने का प्रयास किया जा रहा है
  • नवनीत ने कहा की संजय राउत कोई महारष्ट्र के ठेकेदार नहीं है, यहाँ सबको अपनी जिमेदारी का अहसास है
  • बीएमसी ने बदले की भावना से शिवसेना के दबाव में कंगना का घर तोड़ा है

कन्नड़ फिल्मों की जानी मानी अभिनेत्री और निर्दलीय सांसद नवनीत राणा (actress and MP Navneet rana) ने शिवसेना संजय राउत को आड़े हाथो लेते हुआ कहा है कि संजय राउत को इस्तीफ़ा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि संजय राउत को नहीं पता है महिलाओं के सम्मान के बारे में इसी लिए वह मीडिया में आकर ओछी बाते करते हैं।

बीएमसी की कार्रवाई को बताया गलत
नवनीत राणा ने बीएमसी की कार्रवाई पर भी सवा उठाते हुए हुआ कहा है कि इस एक्शन की कोई जल्दबाज़ी नहीं थी। लेकिन बीएमसी ने सभी नियमों को ताक पर रखकर यह काम किया है। वो भी तब जब राज्य कोरोना महामारी जैसी समस्या से जूझ रहा है।

अपने बयानों को लेकर विवादों में संजय राउत
नवनीत राणा ने संजय राउत पर भी हमला बोलते हुए कहा कि वो राज्यसभा के सांसद हैं। जो लोकतंत्र का मंदिर है फिर भी मीडिया में आकर एक महिला को अपने शब्दों में अपमानित करते हैं। यह कौन सी संस्कृति है महाराष्ट्र की। संजय राउत की बात का अगर कोई महिला जवाब दे तो फिर उस पर इस तरह से कार्रवाई करवाई जाती है।

कहां हैं मुख्यमंत्री साहब
नवनीत राणा ने कहा की विदर्भ बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुआ लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक बार भी यहाँ किसानों, मजदूरों, और बाढ़ पीड़ित जनता का एक बार भी हाल नहीं पूछा। कोरोना के वजह से कितने लोगों ने अपनी जान गंवाई।, कितन लोगों को अस्पताल में बेड नहीं मिला और कितने लोग बिना वेंटिलेटर्स के मर गए। इस बात से उद्धव सरकार को कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है। इस बात की पड़ताल उन्होंने नहीं की उल्टा राज्य की राजनीति को एक अलग दिशा देने का प्रयास किया जा रहा है।

संजय राउत इस्तीफ़ा दें
नवनीत से कहा कि मुख्यमंत्री को अपने घर से बाहर आकर यह स्पष्ट करना चाहिए की वह संजय राउत के एक महिला को गाली देने के बयान का समर्थन करते हैं या विरोध। यदि विरोध करते हैं तो उनका तत्काल इस्तीफ़ा लिया जाए राज्यसभा सांसद के पद से। आज राज्य की महिलायें आपसे यह जानना चाहती है कि एक गाली देने वाले सांसद का आप समर्थन करते हैं या फिर राज्य की महिलाओं के अधिकारों की रक्षा।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here