राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने अंबाला में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने से पहले इन मुद्दो पर की चर्चा

0
49
defence minister
.

अंबाला। (फर्स्ट आई ब्यूरो) फ्रांस से खरीदा गया अत्याधुनिक लड़ाकू विमान ‘राफेल’ आज औपचारिक रूप से वायुसेना में शामिल हो गया। अंबाला एयरबेस में आयोजित एक शानदार समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री की मौजूदगी में यह विमान वायुसेना के गोल्डन एरो स्कवाड्रन का हिस्सा बने। बता दें कि राफेल विमान का औपचारिक अनावरण पारंपरिक रूप से आयोजित सर्व धर्म पूजा के साथ किया गया। इस आयोजित कार्यक्रम में हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई सभी के पुजारियों ने प्रार्थना की।

भारतीय वायुसेना के लिए आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण रहा क्यों कि अत्याधुनिक लड़ाकू राफेल आज वायुसेना में शामिल हुए हैं। आज राफेल विमानों का इंडक्शन भारत की संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए एक बड़ा संदेश रहा और शक्ति संतुलन को बदलने की ताकत रखने वाला राफेल आज लड़ाकू विमानों के बेड़े की शान बना।

 ये भी पढ़ें- भारतीय वायुसेना में बाहुबली की एंट्री से थर्राया पाकिस्तान, चीन से लगाई मदद की गुहार

वायुसेना के लिए बेहद महत्वपूर्ण माने जाने वाले पांच राफेल विमानों की पहली खेप जुलाई में भारत आ गई थी। वहीं अब इसकी दूसरी खेप अक्टूबर में भारत आ सकती है। बता दें कि भारतीय वायु सेना ने 59 हजार करोड़ रूपये की लागत से फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने का सौदा किया है।

कार्यक्रम से पहले राजनाथ सिंह ने फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली से की मुलाकात

अंबाला एयरबेस में आयोजित कार्यक्रम के लिए रवाना होने से पहले भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने एक दूसरे से मुलाकात की। इस दौरान दोनों ने कुछ मद्दों पर चर्चा भी की।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने क्या कहा?

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने एक दूसरे से मुलाकात की। इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि ‘आज, दुनिया में सुरक्षा के साथ-साथ, इकोनॉमी और जियो-स्ट्रैटजिक के मुद्दे नए-नए रूपों में हमारे सामने आ रहे हैं। इनका लगातार सामना करते हुए, हम दो बड़े लोकतंत्र, एक स्थायी, सक्रिय संबंध बनाने और बढ़ाने में कामयाब रहे हैं। साथ ही राजनाथ सिंह ने कहा कि, ‘संयुक्त राष्ट्र में एक्सटेंशन और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत और फ्रांस साथ खड़े रहे’।

ये भी पढ़ें- भारतीय सेना में शामिल हुआ राफेल, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीन को दे दिया ये कड़ा संदेश…

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘आज वायुसेना में राफेल का इंडक्शन पूरी दुनिया, खासकर भारत की संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए एक ‘बड़ा और कड़ा’ संदेश है। उन्होंने आगे कहा कि, ‘हमारी सीमाओं पर जिस तरह का माहौल इन दिनों बना हुआ है या बनाया गया है उनके लिहाज से यह इंडक्शन बहुत अहम है। यह क्षेत्रीय अखंडता को बनाए रखने के लिए सरकार के कमिटमेंट का भी एक उदाहरण है। उन्होंने कहा कि बदलते समय के साथ हमें स्वयं को भी तैयार रखना होगा। जिस ताकत को आज हम लोग देख पा रहे हैं यह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मजबूत इच्छाशक्ति का ही परिणाम है। हमारा उद्देश्य हमेशा विश्व शांति के लिए रहा है और हम ऐसा कभी भी कोई कदम नहीं उठाते जिससे शांति भंग हो।’

 

 

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here