Sanjay Raut Attacks On Kangana Ranaut: Said Babri Was Demolish By Them

0
23
.

हाइलाइट्स:

  • कंगना का दफ्तर बीएमसी ने तोड़ा तो उन्होंने कहा बाबर और बाबर की टीम
  • संजय राउत ने कहा बाबरी हमने ही तोड़ी हमें क्या कहते हो
  • कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ को लेकर कहा, बीएमसी के आयुक्त से पूछें उन्होंने अभी ऐक्शन क्यों लिया
  • संजय राउत ने कहा अगर कंगना माफी मांग लें तो कोई बात नहीं होगी

मुंबई
कंगना रनौत और शिवसेना के बीच चल रही विवाद में एक बार फिर से ‘सामना’ के जरिए कंगना को निशाने पर लिया गया है। कंगना के दफ्तर गिराने पर ऐक्ट्रेस ने ट्वीट करके बीएमसी की टीम को बाबर लिखा था। इस पर पलटवार करते हुए पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है, ‘बाबरी गिराने वाले हम ही, हमें क्या कहते हो?’ इसके अलावा, उन्होंने कहा है कि अगर कंगना माफी मांग लेती हैं तो कोई विवाद नहीं रह जाएगा।

संजय राउत ने कहा है कि बाबरी तोड़ने वाले हम ही हैं, तुम हमें क्या सिखाते हो। हालांकि संजय ने अपने इस कटाक्ष में कंगना रनौत का नाम नहीं लिखा है। उन्होंने इशारों-इशारों में कंगना के बाबर वाली ट्वीट का जवाब दिया है।

आपका वोट दर्ज हो गया है।धन्यवाद

संजय राउत के बयान पर बोलीं कंगना रनौत, सरेआम ‘हरामखोर लड़की’ का टाइटल दे दिया अब कहां…

‘बीएमसी के आयुक्त से पूछें इसी समय क्यों ऐक्शन लिया’
शिवसेना नेता ने कहा कि मनपा (बीएमसी) ने जो कार्रवाई की है वह उनकी है। बीएमसी ने इसी समय यह ऐक्शन क्यों लिया, इसका जवाब बीएमसी के आयुक्त ही दे सकते हैं। उनसे ही सवाल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी नियमों का उल्लंघन करता है तो उस पर कार्रवाई की जाती है।


‘देशद्रोही, बेईमान…’ बोल पर कंगना रनौत ने किया शिवसेना पर पलटवार- ‘ना डरूंगी, ना झुकूंगी…खून भी दे सकती हूं’

‘शब्द वापस लें तो कोई विवाद नहीं’

संजय राउत ने कहा कि बदले की भावना से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। वह (कंगना रनौत) एक कलाकार हैं और मुंबई में रहती हैं। उन्होंने मुंबई और महाराष्ट्र के लिए जो भाषा प्रयोग की वह उचित नहीं है। अगर कंगना अपने शब्द वापस लेती हैं तो कोई विवाद ही नहीं रह जाता है।

दिल्ली: करणी सेना के सदस्यों ने कंगना रनौत के समर्थन में संजय राउत के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया

कंगना, संजय (फाइल फोटो)

कंगना, संजय (फाइल फोटो)

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here