जिम का चक्कर छोड़िए, अब इन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से कम करें बढ़ा हुआ वजन | health – News in Hindi

0
54
.

आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से कम करें वजन (pic courtesy: pexels/Vicky Tran)

वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) में लगातार बैठकर घंटों काम करते हुए मोटापा (Obesity) नहीं होगा तो क्या होगा. उसमें भी वजन को नियंत्रण (Weight Control) में रखने के लिए नियमित वर्कआउट (Workout) के लिए समय नहीं मिल पाता है.




  • Last Updated:
    September 11, 2020, 3:43 PM IST

थोड़ा-सा भी वजन बढ़ जाए तो उसे कम करना कौन नहीं चाहेगा, लेकिन भागती-दौड़ती दिनचर्या में लोग अपनी सेहत का ख्याल नहीं रख पाते. लगातार बैठकर घंटों काम करते हुए मोटापा नहीं होगा तो क्या होगा. उसमें भी वजन को नियंत्रण में रखने के लिए नियमित वर्कआउट के लिए समय नहीं मिल पाता है. अब ऐसे लोगों के लिए एक समाधान है और वह है प्राचीन आयुर्वेदिक तरीकों को अपनाना जो स्वाभाविक रूप से एक स्वस्थ शरीर और वजन कम करने में महत्वपूर्ण यहां कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां दी गई हैं जो वजन को कम करने में मदद करती हैं.

गुग्गुल

myUpchar के मुताबिक यह जड़ी-बूटी वसा के ऑक्सीकरण को रोकने में मदद करती है और कोशिकाओं को कोलेस्ट्रॉल को समाप्त करने से भी बचाती है. हर दिन तीन बार 25 ग्राम का सेवन करने की सलाह दी जाती है, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है. यह कमर, पेट और जांघों के आस-पास होने वाली चर्बी को धोने में मदद करता है. इसके अतिरिक्त, यह थायराइड को उत्तेजित करता है और मेटाबॉलिज्म की दर को बढ़ाता है.कालमेघ

कालमेघ कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है. कालमेघ एक वसा में घुलनशील जड़ी बूटी है, जो वसा को मिटा देती है और रक्त को ताजा करती है. यह सक्रिय रूप से एक व्यक्ति के शरीर के वजन को कम करता है. इसके अतिरिक्त, जड़ी-बूटी बुखार, एलर्जी, मधुमेह और कैंसर जैसी अन्य घातक बीमारियों के इलाज में सहायक है. यह उन महिलाओं के लिए नहीं है जो गर्भवती हैं.

त्रिफला

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि ‘त्रिफला’ एक जाना-माना आयुर्वेदिक मिश्रण है जिसे आमलकी (आंवला), बिभीतकी और हरितकी (हरड़) से तैयार किया गया है. यह पाचन के इलाज के लिए उपयोगी और शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है. यह सूजन को कम करने में मदद करता है और कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है. इसके अतिरिक्त, यह एक कोलोन टोनर के रूप में जाना जाता है जो वजन घटाने में मदद करता है. त्रिफला काढ़े को शहद मिलाकर पीने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है.

वृक्षाम्ल

एक जड़ी-बूटी जो शरीर में फैट डिपोजिशन को बाहर निकालने में मदद करती है और मस्तिष्क में सेरोटोनिन की उपलब्धता को बढ़ाने में भी मदद करती है. लोगों के लिए कम से कम समय में वजन कम करने के लिए सबसे अच्छी जड़ी-बूटी है. अगर इसका नियमित रूप से सेवन किया जाए तो बड़े काम की साबित हो सकती है. तेजी से फैट में कमी के पीछे का कारण हाइड्रॉक्सिल साइट्रिक एसिड की उपस्थिति है.

चित्रक

चित्रक को शरीर के कोलेस्ट्रॉल के लिए दुश्मन माना जाता है. यह पाचन सुधार में मदद करता है और साथ ही मेटाबॉलिज्म प्रोसेस को बढ़ाता है. यह शरीर को पूरी तरह से ताजा करने में मदद करता है और गैस्ट्रिक जूस को रिस्टोर करता है. यह अपच, मतली, पेट में ऐंठन, दस्त, अल्सर और त्वचा रोगों के इलाज में उपयोगी है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, त्रिफला के फायदे और नुकसान, लेने का नियम और तासीर पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here