Agra Child Murder Case; 9-year-old Child Killed In UP Agra, Body Recovered From Infront Of Her House | दो दिनों से लापता बच्चे का शव भूसे के ढेर में मिला, जांच में लापरवाही के आरोप में थाना प्रभारी लाइन हाजिर, गांव में तनाव

0
28
.

आगरा13 घंटे पहले

आगरा में बच्चे की हत्या के बाद मौके पर जुटी पुलिस और भीड़।

  • एत्मादपुर थाना क्षेत्र का मामला
  • पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़कर पूछताछ शुरू की

आगरा जिले में 9 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई। गुरुवार को उसका शव उसी के घर के सामने स्थित बाड़े में रखे भूसे के ढेर से बरामद हुआ है। मृतक बीते मंगलवार से लापता था। परिवार वालों ने समुदाय विशेष के एक शख्स पर हत्या कर शव को छुपाने का आरोप लगाया। यह भी आरोप लगाया कि थाना प्रभारी समुदाय विशेष होने के कारण उन्होंने हत्यारोपी का पक्ष लिया और कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद एसएसपी बबलू कुमार ने थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया है। तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है।

उपदेश।- फाइल फोटो

गांव की दुकान पर गया फिर वापस नहीं लौटा

यह मामला थाना एत्मादपुर के धौर्रा गांव का है। गांव निवासी रघुनाथ का बेटा उपदेश उर्फ भुल्ला (9 साल) कक्षा दो का छात्र था। वह मंगलवार को घर से गांव में स्थित एक दुकान पर सामान लेने गया था। लेकिन वापस नहीं लौटा। परिवार वालों ने गांव निवासी छोटू, अइया और वाहिद पर बेटे को गायब करने का आरोप लगाया। पुलिस भी मौके पर पहुंची, लेकिन बिना कोई कार्रवाई किए वापस लौट गई। परिवार वालों ने कहा कि, 8 साल पहले उपदेश का चचेरा भाई भी गुम हो चुका है, उसका अभी तक कुछ पता नहीं चला।

झड़प के बाद भीड़ को हटाती पुलिस।

झड़प के बाद भीड़ को हटाती पुलिस।

विधायक के हस्तक्षेप पर दर्ज हुआ मामला

बुधवार को परिवार वालों की मांग पर विधायक एत्मादपुर राम प्रताप चौहान के हस्तक्षेप पर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया। लेकिन, आज परिवार वालों ने घर के सामने रूसी के बाड़े में भूसे के ढेर से उपदेश का शव बरामद किया। बच्चे का शव मिलते ही ग्रामीणों में जबरदस्त आक्रोश फैल गया। लोग थाना प्रभारी सलीम खान पर समुदाय विशेष की मदद का आरोप लगाने लगे।

परिजनों का कहना था कि गांव के ही समुदाय विशेष के लोगों द्वारा बच्चे को घर में बंद कर लिया गया था, अगर पुलिस ने समय से उन आरोपियों के घर पर जाकर जांच की होती तो बालक आज जिंदा होता। मृतक के पिता का कहना है कि रविवार को आरोपी छोटू ने उनसे दो लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी। न देने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी। पैसे न देने पर यह वारदात कर दी।

रोते बिलखते परिजन।

रोते बिलखते परिजन।

पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों ने की नारेबाजी

एसपी ग्रामीण रवि कुमार, सीओ एत्मादपुर अर्चना और सीओ छत्ता, एसओ एत्मादपुर फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और हत्यारों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। एसएसपी बबलू कुमार ने तत्काल इंस्पेक्टर सलीम खान को लापरवाही बरतने के आरोप में लाइन हाजिर कर दिया। पुलिस ने आरोपी अइया ,छोटू और वाहिद को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ शुरू कर दी है।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here