कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी कार्य योजना तैयार की जाए: CM योगी। An effective action plan should be prepared to stop the spread of Covid-19 says CM YOGI

0
27
meeting
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को पूरी गुणवत्ता के साथ सम्पन्न करने पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में इस कार्य की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए कॉनटैक्ट ट्रेसिंग का कार्य सुव्यवस्थित ढंग से किया जाए।

सीएम योगी ने बैठक में निर्देश दिए कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज कोविड-19 के दृष्टिगत लखनऊ के जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, नगर आयुक्त आदि के साथ बैठक कर इसके प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी कार्य योजना तैयार करें।

आरजेडी सांसद मनोज झा ने राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए दाखिल किया नामांकन

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कोविड-19 से बचाव और उपचार के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। गुरुवार को प्रदेश में 1 लाख 50 हजार से अधिक कोविड-19 के टेस्ट का संज्ञान लेते हुए उन्होंने कहा कि टेस्टिंग कार्य को निर्धारित मानकों के अनुरूप किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में प्रत्येक दिन 1 लाख 50 हजार टेस्ट हों। उन्होंने कहा कि सरकारी लैब्स में आरटीपीसीआर के माध्यम से प्रतिदिन की जा रही 50 हजार से अधिक जांच यह दर्शाती है कि प्रदेश सरकार कोविड-19 की लड़ाई में पूरी तरह सक्रिय है।

सीएम ने निर्देशित किया कि कोविड अस्पतालों में चिकित्सकगण नियमित अन्तराल पर राउण्ड लेते हुए मरीजों को चेक करें। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस सेवा को पूरी सक्रियता के साथ संचालित किया जाए। जनपद कानपुर नगर के कोविड अस्पतालों में बेड्स की संख्या में वृद्धि की जाए। जनपद प्रयागराज के कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का उपयोग कोविड-19 के सर्विलांस कार्य में किया जाए।

यूपी- सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पकड़े गए युवक-युवती मिले कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

उन्होंने निर्देश दिए कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरणों सहित उद्यमियों और निवेशकों से सम्बन्धित समस्त विभागों एवं सरकारी संस्थाओं के अधिकारी अपने कार्यालय में नियमित बैठकर उद्यमियों, निवेशकों तथा उद्योगपतियों से संवाद बनाएं और उनकी समस्याओं का निराकरण करें। उन्होंने अपर मुख्य सचिव कृषि को मण्डी शुल्क की दर को कम करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी दिए।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here