Covid 19 वैक्सीन के ट्रायल पर रोक, WHO ने कहा- निराश ना हों | health – News in Hindi

0
47
.

एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगा दी गई है

जेनेवा में WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) पर रोक कोई झटका नहीं है और ना ही निराश होने की जरूरत है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 11, 2020, 6:09 PM IST

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस (Corona Virus) के लिए एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) के वैक्सीन ट्रायल (Trial) पर रोक लगने के बाद प्रतिक्रिया दी है. WHO ने कहा है कि इससे निराश नहीं होना चाहिए. ट्रायल के दौरान ऐसी घटनाएं होती रहती है. आपको बता दें कि एस्ट्राजेनेका के वैक्सीन परीक्षण के दौरान एक मरीज की तबियत बिगड़ गई थी और परीक्षण रोक दिया गया था.

इसके साथ ही भारत में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया (Serum Institute of India) में चल रहे वैक्सीन परीक्षण को भी रोक दिया गया है. सीरम ने दावा किया था कि भारत में ट्रायल पर असर नहीं पड़ेगा, इसके बाद ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (Drug Controller General of India) ने उन्हें नोटिस जारी कर दिया. इसमें पूछा गया कि भारत में ट्रायल क्यों नहीं रोके गए. सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा कि भारत में 100 लोगों को परिक्षण के लिए वैक्सीन दी गई थी. दूसरे तथा तीसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी ली गई थी जिसमें 1600 लोगों ने नामांकन कराया था. फ़िलहाल ट्रायल रोक दिया गया है .

इसे भी पढ़ें: शरीर पर कैसे नजर आता है भावनात्मक तनाव, वैज्ञानिकों ने पता लगाया इसका जवाब

जेनेवा में WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि एस्ट्राजेनेका पर रोक कोई झटका नहीं है और ना ही निराश होने की जरूरत है. इससे सिर्फ साफ़ हुआ है कि वैक्सीन निर्माण की प्रक्रिया तेज और सीधी नहीं थी.

स्वामीनाथन ने कहा “मुझे लगता है कि यह अच्छा हुआ. सभी को यह जानने के लिए सीख है कि रिसर्च में उतार-चढ़ाव आते हैं. क्लिनिकल विकास में भी उतार-चढ़ाव आते हैं. हमें इसके लिए तैयार रहना होगा. ऐसी घटनाएं होती हैं इसलिए निराश होने की जरूरत नहीं है. हम आशा करते हैं कि चीजें आगे बढ़ सकेंगी. हमें इन्तजार कर देखना होगा कि वास्तव में हुआ क्या था.”

वैक्सीन ट्रायल रुकने के बाद विशेषज्ञों की टीम यह पता लगाने में जुटी हुई हैं कि मरीजों के साथ क्या हुआ था. यह भी देखने का प्रयास किया जा रहा है कि मरीजों को वैक्सीन से तकलीफ हुई या इसके लिए अन्य कोई कारण जिम्मेदार है. एक महिला मरीज को वैक्सीन दौरान परेशानी हुई थी, इसके बाद ट्रायल पर रोक लगा दी गई. एस्ट्राजेनेका के सीईओ (CEO) ने भी इस बात की पुष्टि की है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here