आत्महत्या करने वाले किसानों के परिजनों से मिले अजय कुमार लल्लू, योगी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

0
29
mahoba
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आज बुन्देलखण्ड दौरे के तीसरे दिन महोबा पहुंचकर पीड़ित किसानों, मजदूरों के परिजनों से भेंट कर उनका ढांढस बंधाया। अतिवृष्टि से फसलों की बर्बादी, कर्ज के बोझ और आर्थिक कठिनाइयों के चलते विगत दिनों तमाम गरीब किसानों द्वारा की गयी आत्महत्या के पीड़ित परिजनों से मिलकर उनका दुःख-दर्द साझा किया। इस दौरान उन्होने योगी सरकार पर किसान विरोधी रवैये का आरोप लगाते हुए कहा कि फर्जी कर्जमाफी, सूदखोरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की। उन्होंने कहा कि ये सरकार की  जुमलेबाजी का दुष्परिणाम है कि आज अन्नदाता किसान अपनी जान गंवाने के लिए विवश हो रहा है।

Congress

आपदा में अवसर तलाश रही योगी सरकार, प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबालाः अजय कुमार लल्लू

अजय कुमार लल्लू ने महेाबा के ग्राम व पो. रेवई ब्लाक चरखारी पहुंचे जहां किसान रामफल प्रजापति ने उड़द की फसल बर्बाद होने और लड़की की शादी में साहूकारों से लिये कर्ज की अदायगी न कर पाने के चलते आत्महत्या कर ली। ग्राम चुरबरा तहसील महोबा के भगवान दास राजपूत ने 3 लाख साहूकारों का, बैंक का 1.5 लाख कर्ज चना, मूंगफली, उड़द, तिल की फसल बर्बाद होने के चलते न अदा कर पाने की चिंता में आत्महत्या कर ली। ग्राम कमालपुरा ब्लाक जैतपुर के हरदयाल विश्वकर्मा की फसल अतिवृष्टि से पूरी तरह बर्बाद हो जाने व आर्थिक तंगी के कारण ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। ग्राम कमालपुरा ब्लाक जैतपुर के प्रताप कुशवाहा सुबह खेत गये थे उसी समय बर्बाद फसल देखकर हार्ट अटैक पड़ गया और मौत हो गयी। ग्राम चरबरा ब्लाक कबरई के गजराज राजपूत का घर शार्ट सर्किट से पूरी तरह जल गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मौके पर पहुंचकर आर्थिक मदद की। चुरबुरा गांव के निरपथ हरिजन ने कर्ज के बोझ से दबे होने के चलते जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली।

 भाजपा सरकार ने कब्रगाह बना कर छोड़ा

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने महोबा के विभिन्न ग्रामों का दौरा करते हुए कहा कि बुन्देलखण्ड का किसान कर्ज से दबा है, स्थिति बहुत बदतर है, कब्रगाह बना के छोड़ दिया है इस भाजपा सरकार ने। फसल बर्बाद, बिजली, पानी का संकट, अन्ना जानवरों से परेशानी। बैंकों-साहूकारों का कर्ज, फसल बीमा का कोई लाभ नहीं मिल रहा है। हम किसानों को ऐसे नहीं देख सकते, उनके हक और अधिकार की लड़ाई सड़क से लेकर सदन तक लड़ेंगे।

 

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here