Case of ruckus after Malihabad murder: funeral of dead body, body of dead body dead after 10 hours | मलिहाबाद हत्या के बाद बवाल का मामला: 10 घंटे के बाद आधी रात को हटे मृतक के परिजन, शव का किया अंतिम संस्कार

0
48
.

लखनऊ12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मलीहाबाद में युवक की मौत के बाद हुआ था हंगामा। देर रात पुलिस ने परिजनों को समझाया तब जाकर अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए।

  • मलीहाबाद में शुक्रवार को एक युवक की पीट-पीटकर हुई थी हत्या
  • लापरवाही बरतने वाले मलिहाबाद इंस्पेक्टर को आईजी ने किया निलंबित

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मलीहाबाद इलाके में मामूली विवाद में हुई हत्या के बाद हुए बवाल को 10 घंटे के बवाल के बाद काबू किया सका। शुक्रवार देर रात एक बजे मृतक का अंतिम संस्कार कराया जा सका। अधिकारियों के आश्वासन के बाद ग्रामीणों शांत हुए देर रात आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह ने घटना को छुपाने उच्च अधिकारियों को सही जानकारी अवगत न कराने पर लापरवाह इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया। पूरे मामले में आरोपियों के खिलाफ एनएसए तक की कार्रवाई की जाएगी।

दिलावर नगर गांव में गुरुवार देर रात मामूली विवाद में युवक की मौत से आक्रोशित सैकड़ों लोग शुक्रवार दोपहर से सड़क पर उतर आए थे उन्होंने लखनऊ हरदोई राजमार्ग पर बांस बल्लियां लगाकर सड़क जाम किया था। इस दौरान पुलिस के रोकने पर झड़प भी हुई थी। दोनों तरफ से आधा दर्जन घायल भी हुए थे।

मौत के मामले में दर्ज हुआ था केस

दिलावर नगर में मामूली बात पर रामविलास की मौत के मामले में हत्या के बजाय गैर इरादतन हत्या की धाराओं में केस दर्ज किया गया था। परिजनों और ग्रामीणों के हंगामे के बाद मुकदमे को हत्या की धाराओं में तब्दील कर दिया गया है। परिजनों की मांग पर प्रशासन ने 10 लाख मुआवजा दिलवाने की मानी है।

मोहनलाल गंज के सांसद ने की थी निंदा

इससे पहले मोहनलाल गंज के सांसद कौशल किशोर ने पुलिस पर फायरिंग करने का आरोप लगाते हुए उसकी निंदा की। कोविड का इलाज करा रहे सांसद ने वीडियो बयान जारी कर न्यायिक जांच कराने की मांग की है। उन्होंने इंस्पेक्टर पर लापरवाही करने के मामले में कार्यवाही की मांग की थी। इस मामले में मृतक के परिजनों को 10 लाख मुवावजे के लिए उन्होंने सीएम योगी को भी पत्र लिखा है।

यह थी घटना, पुलिस ने शुरू में छुपाया
दिलावर नगर निवासी पंचम का बेटा रामविलास बृहस्पतिवार को शाम रबर की पाइप से सड़क पर पार खेतों में पानी लगा रहा था। तभी उधर से दो बाइक सवार गांव के ही 5 युवक गुजरे। रामविलास ने पाई पर बाइक चलाने से रोका तो। दोनों में विवाद शुरू हो गया। मारपीट में रामविलास को काफी चोटें आई उसकी मौत हो गई।

परिजनों का कहना है कि पांचों युवक ने उसे बाइक से कुचलकर मार डाला है। इसे लेकर गांव में आक्रोश फैल गया। दो समुदाय के लोग आमने-सामने हो गए। रात भर हंगामा चलता रहा। रामविलास के परिवार में पत्नी सुमन और चार बच्चे हैं। पुलिस ने शुरुआत में मामले को एक्सीडेंट बताकर गुमराह करने की कोशिश करती रही। जिसके आक्रोशित ग्रामीणों और परिजनों में 10 घंटे तक हरदोई हाईवे जाम कर प्रदर्शन किया।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here