यूपी- पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति फिर से गिरफ्तार, एक हफ्ते पहले ही जेल से आए थे बाहर

0
43
Former minister Gayatri Prasad Prajapati arrested jail week ago
.

लखनऊ. अखिलेश यादव सरकार में खनन और परिवहन मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri Prasad Prajapati) की मुश्किलें बढ़ती ही चली जा रही हैं। 1 हफ्ते से पहले बेल पर बाहर आए पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बता दें, वह बीते 4 सितंबर को ही हाईकोर्ट से रेप केस में जमानत पर बाहर आए थे।

गायत्री प्रजापति को न्यायिक हिरासत में भेजा गया

बताया जा रहा है, गाजीपुर पुलिस ने धोखाधड़ी, जालसाजी और धमकी देने के मामले में गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri Prasad Prajapati) को शुक्रवार रात को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. फिलहाल गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri Prasad Prajapati) को केजीएमयू (KGMU) में भर्ती कराया गया है. पूर्व मंत्री का पहले से ही किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में इलाज चल रहा है. अब उनका इलाज पुलिस (Police) की निगरानी में होगा.

बता दें कि गायत्री प्रजापति को बीते चार सितंबर से Allahabad High Court से रेप केस में जमानत मिली थी. रेप मामले में जेल में बंद यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका हाई कोर्ट ने मंजूर कर ली थी. इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने गायत्री प्रजापति को 2 महीने की राहत दी थी. गायत्री प्रजापति Lucknow Jail में कई महीनों से बंद थे.

आपको बता दें, गायत्री प्रजापति के खिलाफ एक और एफआईआर (FIR) दर्ज की गई थी. ये एफआईआर (FIR) रेप का आरोप लगाने वाली महिला के पूर्व वकील दिनेश चंद्र त्रिपाठी ने करवाई थी. एफआईआर में पीड़ित महिला को भी आरोपी बनाया गया है. दिनेश चंद्र त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि पूर्व मंत्री पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने केस को रफा-दफा करने के लिए गायत्री प्रजापति से करोड़ों रुपए लिए हैं. इससे जुड़े सबूत भी पुलिस को सौंपे गए हैं.

बता दें पूरा मामला सपा शासनकाल का ही है जब चित्रकूट की एक महिला ने मंत्री गायत्री प्रजापति पर रेप का आरोप लगाया था. इसके बाद फ़रवरी 2017 में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश पर गायत्री प्रजापति के खिलाफ केस दर्ज करते हुए गिरफ्तार केस किया गया था.

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here