Heath Tips: घर बैठे तुलसी का प्रयोग कर ठीक करें इतने सारे रोग, छूट जाएगी दवा

0
25
tulsi
.

तुलसी का पौधा एक ऐसा पौधा है जो हिंदू धर्म के लगभग सभी घरों में होता है। तुलसी के अंदर इतने औषधीय गुण पाए जाते हैं जिनके बारे में शायद ही आप जानते होंगे। अक्सर हम छोटी-छोटी बीमारियां होने पर सीधे डॉक्टर के पास दौड़ जाते हैं और हजारों रुपए की दवाइयां खानी पड़ती हैं।

कभी-कभी इन दवाईयों से भी आराम नहीं आता है। आज हम आपके लिए ऐसा आर्टिकल लाए हैं जो आपके लिए काफी लाभकर साबित होगा। जी हां आज हम बताएंगे आपको तुलती के आयुर्वेदिक गुणों के बारे में जिनके बारे में शायद ही आप जानते हों।

तुलसी के पोषक तत्व

तुलसी में मौजूद पोषक तत्व शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते है. तुलसी की पत्तियों में विटामिन और खनिज तत्व पाए जाते हैं. तुलसी में मुख्य रूप से विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक और आयरन आदि मौजूद होते हैं. इसके साथ ही तुलसी में सिट्रिक, टारटरिक एवं मैलिक एसिड भी होता है।

कोरोना काल में रहते हैं अकेले, मानसिक रूप से स्‍वस्‍थ रहने को फॉलो करें ये टिप्‍स 

तुलसी के फायदे

  • तुलसी की पत्तियां कई रोगों में दवा की तरह इस्तेमाल की जाती हैं। त्वचा इन्फेक्शन में भी तुलसी की पत्तियों को उपचार किया जाता है।
  • गले की खराश, खांसी और गला बैठ जाने पर तुलसी की जड़ को सुपारी की तरह चूसा जा सकता है। काफी फायदा मिलती है।
  • श्वास की बिमारी में तुलसी के पत्ते काले नमक के साथ सुपारी की तरह मुंह में रखने से काफी राहत मिलती है।
  • तुलसी की हरी पत्तियों को आग पर सेंकने के बाद नमक लगाकर खाने से खांसी तथा गला ठीक हो जाता है।
  • तुलसी के पत्तों के साथ चार भुनी लौंग चबाने से खांसी ठीक हो जाती है।
  • तुलसी के कोमल पत्तों को चबाने से खांसी में आराम जल्द मिल जाता है।
  • खांसी और जुकाम में तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च से रेडी की हुई चाय पीने से फौरन फायदा पहुंचता है।
  • 10-12 तुलसी के पत्ते तथा आठ-दस काली मिर्च के चाय बनाकर पीने से खांसी जुकाम, बुखार बिलकुल ठीक हो जाता है।
  • फेफड़ों में खरखराहट की आवाज़ आने व खांसी होने पर तुलसी की सूखी पत्तियां चार ग्राम मिश्री के साथ ले सकते हैं.
  • काली तुलसी का रस करीब डेढ़ स्पून काली मिर्च के साथ देने से खाँसी एकदम ठीक हो जाती है.

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here