UP Lekhpal Bribe Video Viral In Prayagraj | लेखपाल ने किसान से कहा- पैसा मेरे मन का और पैमाइश तुम्हारे हिसाब से कर दूंगा; वीडियो वायरल, एसडीएम ने जांच के आदेश दिए

0
40
.

प्रयागराज6 घंटे पहले

मसूद अहमद ने पैमाइश के लिए 10 हजार रुपए की मांग की थी। मामला प्रयागराज के करछना तहसीन का है। एसडीएम ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

  • करछना तहसील का केस, एसडीएम ने जांच के आदेश दिए हैं
  • वायरल वीडियो में लेखपाल पैसे की डिमांड करता दिखाई दे रहा

उत्तर प्रदेश में लेखपालों की घूसखोरी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। जिसकी वजह से गांवों में किसान परेशान हैं। हाल ही में मामला संगम नगरी के करछना तहसील से सामने आया। यहां के लेखपाल ने एक किसान से जमीन की पैमाइश करने के नाम पर 10 हजार रुपए की डिमांड की। यह वीडियो शुक्रवार रात में वायरल हुआ। मामला संज्ञान में आने के बाद एसडीएम ने जांच के आदेश दे दिए।

वायरल वीडियो में लेखपाल स्पष्ट तौर पर कह रहा है कि मेरे मन का और पैमाइश तुम्हारे हिसाब से। किसान पांच हजार रुपए दे रहा है लेकिन लेखपाल 10 हजार रुपए से कम लेने को तैयार नहीं है। वीडियो वायरल होने के बाद एसडीएम करछना ने 12 सितम्बर को इस पूरे केस की जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ में डीएम प्रयागराज के संज्ञान में भी केस ला दिया है।

करछना तहसील का मामला
यमुनापार के करछना तहसील अन्तर्गत हथिगन गांव निवासी सुभाष चन्द्र पटेल एक जमीन की पैमाइश कराना चाह रहा है। जिसके लिए वह हल्का लेखपाल मसूद अहमद से मिला। मसूद अहमद ने पैमाइश के लिए 10 हजार रुपए की मांग की। बड़ी मुश्किल से सुभाष ने पांच हजार रुपये इकट्ठा किए और लेखपाल मसूद अहमद के पास पहुंच गया।

लेखपाल ने उसे गाँव के बाहर नहर की पुलिया पर गुरुवार शाम को मिलने के लिए बुलाया। जब सुभाष अपने एक परिचित के साथ वहां पहुंचा तो लेखपाल मसूद ने 10 हजार रुपये की डिमांड कर दी। सुभाष ने बहुत निवदेन किया लेकिन लेखपाल मानने को तैयार नहीं हुआ। इस दौरान सुभाष के साथ गए युवक ने लेखपाल की बातचीत का वीडियो बना लिया।

एसडीएम करछना आकांक्षा राणा का कहना है कि उन्होंने वीडियो भी देखा है और शिकायती पत्र भी मिला है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में पीड़ित पक्ष की ओर से शनिवार सुबह मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी की गई है। पिछले दिनों सोरांव तहसील के एक लेखपाल घूस लेते पकड़ा गया था, जिसे निलंबित कर दिया गया था।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here