कंगना पर कुछ नहीं बोले उद्धव ठाकरे, कोरोना पर की बात

0
49
.

हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र सरकार और कंगना रनौत में चल रही उठापटक के बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने किया संबोधन
  • विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उद्धव ने कंगना का नाम लेकर कुछ नहीं कहा, कोविड-19 पर की बात
  • उद्धव ठाकरे ने संदेश दिया है कि इस समय उनके लिए कंगना रनौत से ज्यादा जरूरी कोरोना का मुद्दा है

मुंबई
पिछले दिनों बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत और शिवसेना के बीच जमकर उठापटक देखने को मिली। बीएमसी ने कंगना के दफ्तर पर कार्रवाई की तो कंगना ने उद्धव ठाकरे पर पर्सनल अटैक किए। इन सबके बीच जब आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सामने आए तो उनसे उम्मीद की जा रही थी कि वह कंगना मसले पर जवाब देंगे लेकिन उन्होंने कुछ नहीं बोला। उद्धव ने सिर्फ इतना कहा कि इस समय महाराष्ट्र को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है जिससे वह खुद ही निपट लेंगे। उद्धव ने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में महाराष्ट्र में हो रही राजनीति पर बात न करके संदेश दिया है कि इस समय उनके लिए कंगना से ज्यादा जरूरी कोरोना है। जानिए, महाराष्ट्र की जनता से उद्धव ने क्या कहा-

1.’चुप रहने का मतलब यह नहीं कि जवाब नहीं’
कंगना मसले पर बिना नाम लिए उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘मैं बोल नहीं रहा हूं इसका मतलब यह नहीं है कि मेरे पास जवाब नहीं है। महाराष्ट्र सरकार लगातार प्रतिकूल परिस्थिति में काम कर रही है। तूफान भी मुंबई में आकर गया। महाराष्ट्र सरकार ने उस स्थिति में भी अच्छा काम किया। मैं राजनीति पर बात नहीं करूंगा।’

पढ़ें: उद्धव ठाकरे बोले, ‘चुप हूं इसका मतलब यह नहीं कि मेरे पास जवाब नहीं’

2. ‘सियासी तूफानों का सामना आपके सहयोग से करूंगा’
उद्धव ठाकरे बोले, ‘जितने भी राजनीतिक तूफान है,उनका मैं सामना करूंगा। कोई परवाह नहीं है और साथ ही कोरोना से भी लड़ाई जारी रहेगी।पिछले कुछ दिनों में जो सियासी तूफान आए हैं उसका सामना मैं आपके सहयोग से कर लूंगा।’

3. ‘नैसर्गिक आपत्ति से, अब राजनीतिक आपत्ति से लड़ेंगे’
कोरोना पर उद्धव ने कहा, ‘पिछले 4 महीनों में हमने बेड और इलाज की सामग्री की संख्या बढ़ाई है।’ उद्धव ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में हम नैसर्गिक आपत्ति से लड़े, अब राजनीतिक आपत्ति से भी लड़ेंगे।

4.’धीरे-धीरे जिम और रेस्तरां भी खुलेंगें’
महाराष्ट्र की जनता का शुक्रियाअदा करते हुए उद्धव ने कहा, ‘सभी धर्म के लोगों ने सामाजिक जिम्मेदारी का पालन करते हुए अपने त्योहार मनाये।सब का धन्यवाद। धीरे धीरे सब शुरू हो रहा है। जिम और रेस्तरां भी हम स्टार्ट करेंगे।’

5. ‘महाराष्ट्र को सुरक्षित रखना मेरी जिम्मेदारी’
उद्धव ने कहा, ‘कोरोना का संकट बढ़ रहा है और भी बढ़ेगा। पुरी दुनिया में लगता है कि कोरोना की सेकंड वेव शुरू होगा। इसलिए कहीं पर जाए या चार लोगों के बीच में ही क्यों न जाये, प्लीज सभी लोग मास्क पहने। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। महाराष्ट्र को सुरक्षित रखना मेरी जिम्मेदारी हैं।’

6. ‘जहां नहीं जा पा रहा वहां विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात’
जनता से संबोधन में उद्धव बोले, ’12 करोड़ जनता की जांच करना काफी मुश्किल है। मुझपर आरोप लगाया गया कि मुख्यमंत्री घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं। लेकिन में विडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हर जगह पहुंचने की कोशिश कर रहा हूं।’

7. ‘जाति, धर्म भूलकर मेरा परिवार मेरी जवाबदारी में हों शामिल’
उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह राज्य में एक मुहिम शुरू कर रहे हैं। यह मुहिम ‘मेरा परिवार, मेरी जवाबदारी’ है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र का हर एक व्यक्ति अपनी जाति, धर्म और क्षेत्र भूलकर एक हों और राज्य की इस मुहिम में शामिल हों।

8. ‘अपने इलाके की जवाबदारी देने की जरूरत’
उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘नगरसेवक हो, स्थानीय कार्यकर्ता हो, किसी भी दल का हो, विधायक हो, संबंधित किसी भी क्षेत्र से जुड़ा सामाजिक कार्यकर्ता हो, सभी को अपने अपने इलाके की जवाबदारी पर ध्यान देने की सख्त जरूरत है।’

9. ‘साढ़े 29 लाख किसानों का कर्ज माफ किया’
अपने काम गिनाते हुए उद्धव ठाकरे ने बताया, ‘साढ़े 29 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है। किसानों के पीछे सरकार खड़ी है। पिछले 4 महीनों मे हमने बेड, और इलाज की सामग्री की संख्या बढाई है, जिसमे ऑक्सीजन के साथ साथ दवाइया आदि शामिल हैं।’

10. ‘मराठा आरक्षण पर फडणवीस भी साथ’
मराठा आरक्षण पर उद्धव ठाकरे ने बताया, ‘देवेंद्र फडणवीस से फोन पर बातचीत हुई। उन्होंने भी कहा है कि आरक्षण पर आपके साथ हैं। इसलिए लोगों से अपील हैं की आप सड़क पर मत उतरिये। सरकार आपकी है। आप की बात कोर्ट के सामने रख रहे हैं।’

महाराष्ट्र की जनता से क्या बोले उद्धव ठाकरे

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here