शिवसेना नेता प्रताप सरनाईक के बिगड़े बोल

0
39
.

हाइलाइट्स:

  • फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर शिवसेना विधायक ने प्रताप सरनाईक ने फिर दिया विवादित बयान
  • प्रताप सरनाईक पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
  • मुंबई से वापस जाने बाद कंगना ने साधा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना
  • कांग्रेस ने भी कंगना पर उठाये सवाल पुछा क्यों नहीं दिए एनसीबी को सुबूत

कंगना रनौत भले ही अब मुंबई से जा चुकी हैं। लेकिन शिवसेना और कांग्रेस के नेता लगातार उन्हें निशाना बना रहे हैं और वो भी उन्हें जवाब दे रही हैं।शिवसेना के नेता और विधायक प्रताप सरनाईक ने सोमवार को फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर फिर से एक विवादित ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्होंने मराठी भाषा में लिखा है, ‘कुतिया की पूंछ नली में डाली फिर भी टेढ़ी ही रहेगी। इस कहावत का मतलब आज सीधे समझ आया,जिन लोगों ने शिवसेना को मुश्किल में लाने के लिए एक सप्ताह तक कंगना समर्थन किया ,उन सभी का मुंह काला करके वो आज चली गईं। अब चिल्लाओ,जय महाराष्ट्र

कांग्रेस ने पूछा ड्रग सिंडिकेट की जानकारी क्यों नहीं दी
महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत पर निशाना साधते हुए कहा है कि कंगना जब हिमाचल प्रदेश में थी तब उन्होंने कहा था कि वह मुंबई आएंगी और बॉलीवुड में फैले ड्रग सिंडिकेट का भंडाफोड़ करेंगी। उनके पास इस बाबत कई सारी अहम जानकारियां हैं। लेकिन हैरानी की बात है वह मुंबई आईं और एक हफ्ते रहने के बाद वह चुपचाप चली गई। उन्होंने जिस ड्रग सिंडिकेट और बॉलीवुड में ड्रग्स कनेक्शन का जिक्र किया था उस बारे में उन्होंने कोई भी जानकारी जांच एजेंसी एनसीबी को नहीं दी है। ऐसे में सवाल यह है क्या कंगना के पास कोई जानकारी थी भी या नहीं। यदि जानकारी नहीं थी तो उन्होंने झूठ क्यों बोला और अगर जानकारी थी तो उसके बाद यह जानकारी संबंधित जांच एजेंसी से साझा क्यों नहीं की गई। यह अपने आप में एक जुर्म है और आईपीसी की धारा के तहत कानूनी कार्रवाई का भी प्रावधान है। जिस तरह से कंगना चली गईं हैं उससे यह साफ जाहिर होता है कि यह सब कुछ एक राजनीतिक एजेंडे के तहत की गई नौटंकी थी।

कंगना के पास मुंबई करने के अलावा दूसरा काम नहीं
शिवसेना और महारष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा कि कंगना के पास अब महाराष्ट्र और मुंबई की बदनामी करने के अलावा दूसरा कोई काम नहीं बचा है। वो एक एक्ट्रेस है उसको जैसी स्क्रिप्ट मिलती है वो वैसे ही बोलती है। उनको अगर मुंबई पीओके लगता है तो उनको मुंबई में रहने देने है या नहीं यह मुंबई की जनता तय करेगी।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here