गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी और उसके खास साथी जय बाजपेयी समेत 36 लोगों पर मनी लॉड्रिंग का केस दर्ज, संपत्तियों की होगी जांच

0
41
.

उत्तर प्रदेश में कानपुर के बिकरु गांव में हुए शूटआउट के 77 दिन बाद सोमवार को ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) लखनऊ ने गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे, भाई दीप प्रकाश समेत 36 लोगों पर मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज कर लिया है।इसमें विकास के खास साथी और उसके फाइनेंसर जय बाजपेयी का भी नाम शामिल है। जय बाजपेयी जेल में है। इसके अलावा आरोपियों में दिनेश तिवारी, शिवम् दुबे, अनुराग दुबे, संजय दुबे समेत 36 को आरोपी बनाया गया है।

चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में दो जुलाई की रात दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर फायरिंग कर गैंगस्टर विकास दुबे ने सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। इस प्रकरण की सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में तीन सदस्यीय आयोग, एसआईटी और ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) जांच कर रहा है। अब ईडी ने विकास दुबे, उसके परिवार वालों और खास लोगों पर अपना शिकंजा कसा है।

दुबई-थाईलैंड में प्रॉपर्टी का हुआ था खुलासा

ईडी की तरफ से कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल को 6 जुलाई को एक पत्र भी लिखा गया था। ईडी की एक टीम ने प्रॉपर्टी डिटेल के लिए आईजी से मुलाकात भी की थी। इसके बाद ईडी को दस्तावेज सौंपे गए थे। पुलिस सूत्रों की मानें तो विकास और उसके करीबियों ने दुबई और थाईलैंड में करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी खरीदी थी। उसने पिछले 3-4 साल में 10 से ज्यादा देशों की यात्रा की। हाल ही में पुलिस ने राजस्व विभाग के साथ मिलकर जय बाजपेयी की चार संपत्तियों को जब्त किया है।

पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद प्रशासन ने विकास दुबे का घर ढहा दिया था।

सरकार और पुलिस ने लिखा था पत्र

यूपी सरकार ने ईडी और आयकर विभाग से विकास दुबे और सहयोगी जयकांत बाजपेयी द्वारा अवैध रूप से हासिल की गई संपत्तियों की जांच कराने का अनुरोध भी किया था। पुलिस ने भी ऐसा ही पत्र ईडी को लिखा था। इस संबंध में मुख्यालय से ईडी को मंजूरी मिल चुकी है। अब ईडी नामी-बेनामी संपत्तियों का ब्यौरा जुटाकर जब्तीकरण की कार्रवाई करेगी।

क्या है कानपुर शूटआउट?

कानपुर के चौबेपुर थाना के बिकरु गांव में 2 जुलाई की रात गैंगस्टर विकास दुबे और उसकी गैंग ने 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी थी। अगली सुबह से ही यूपी पुलिस विकास गैंग के सफाए में जुट गई। 9 जुलाई को उज्जैन के महाकाल मंदिर से सरेंडर के अंदाज में विकास की गिरफ्तारी हुई थी। 10 जुलाई की सुबह कानपुर से 17 किमी पहले पुलिस ने विकास को एनकाउंटर में मार गिराया था। इस मामले में अब तक मुख्य आरोपी विकास दुबे समेत छह एनकाउंटर में मारे गए हैं।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here