जानिए कौन हैं डॉ. ली-मेंग यान जिन्होंने चीन की सरकारी लैब में कोरोना वायरस को बनाने का किया दावा

0
27
corona
.

नई दिल्ली। कोरोेना वायरस की उत्पत्ती को लेकर चीनी वीरोलॉजिस्ट डॉ. ली-मेंग यान ने इतना बड़ा दावा कर दिया कि चीन में हड़कंप मच गया। उन्होंने दाला किया है कि खतरनाक नोवल कोरोना वायरस वुहान में एक सरकार नियंत्रित प्रयोगशाला में ही बनाया गया था और  उसके पास दावा साबित करने के लिए वैज्ञानिक प्रमाण हैं। अगर उन्होंने केवल वायरस को बनाने की बात कही होती तो एक बार उनकी बात पर यकीन करना मुश्किल होता लेकिन उन्होंने अपनी बात को साबित करने के लिए प्रमाण दिखाने की बात कह कर लोगों दुनिया भर में हलचल मचा दी है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए चीनी सरकार के खिलाफ व्हिसलब्लोअर बनने वाले वीरोलॉजिस्ट को पिछले साल दिसंबर में चीन से निकलने वाले कोरोना-जैसे मामलों का एक समूह बनने का काम दिया गया था। हांगकांग में काम करने वाले शीर्ष वैज्ञानिक ने दावा किया कि उन्होंने अपनी जांच के दौरान एक कवर-अप ऑपरेशन की खोज की और कहा कि चीनी सरकार को सार्वजनिक रूप से स्वीकार करने से पहले ही वायरस के प्रसार के बारे में मालूम था।

Donald Trump claimed PM Modi praised him for doing great job in coronavirus testing – ट्रंप का दावा : कोरोना से लड़ाई में PM मोदी ने की तारीफ, कहा- आपने क्या शानदार काम किया

आपको बता दें कि डॉ. ली-मेंग ने कहा कि उन्होंने दिसंबर के अंत और जनवरी के शुरू में चीन में “न्यू निमोनिया” पर दो रिसर्च किए और अपने सुपरवाइजर के साथ परिणाम शेयर किए जो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सलाहकार हैं । वह अपने सुपरवाइजर से “चीनी सरकार और डब्ल्यूएचओ की ओर से सही काम” करने की उम्मीद कर रही थी, लेकिन उसे आश्चर्य हुआ कि उसे “चुप्पी बनाए रखने के लिए कहा गया था वरना उसे गायब कर दिया जाएगा” ।

देश में बढ़े मामले

शनिवार की बात करें तो स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी जानकारी के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 97,570 नए केस सामने आए थे और कोविड-19 से 1201 लोगों की मौतें हुई हैं। देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या में भी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here