CM योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आगरा मण्डल के विकास कार्यों की समीक्षा की

0
36
AGRA MANDAL VC
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मण्डल के विकास कार्यों की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने मण्डल से सम्बन्धित सांसद एवं विधायकगण से निर्माणाधीन विकास परियोजनाओं की प्रगति आदि के सम्बन्ध में फीडबैक भी प्राप्त किया। उन्होंने विकास की गति को और तेज किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि परियोजनाओं और विकास कार्यों को समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण ढंग से मानकों के अनुसार पूर्ण किया जाए। कार्यदायी संस्थाओं को कार्य किए जाने के समय यह सुनिश्चित किया जाए कि उनके पास उचित मैन पावर है या नहीं। इसके आधार पर ही कार्य आवंटित किए जाएं। निर्धारित अवधि में कार्य के पूर्ण होने पर लागत में कमी आती है और जनता को विकास योजनाओं का समय से लाभ मिलता है। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए शासन स्तर पर धनराशि की कोई कमी नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश की जनता को लाभान्वित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस सम्बन्ध में किसी भी स्तर पर लापरवाही अथवा उदासीनता बरते जाने पर जवाबदेही तय की जाएगी। हमें कोरोना से लड़ना भी है और ते से विकास कार्य भी संचालित करने हैं। इसके दृष्टिगत वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए पूरी सतर्कता व सावधानी अपनाते हुए विकास कार्यों को तीव्र गति से पूर्ण किया जाए। कोविड-19 से बचाव के लिए व्यापक जागरूकता कार्यक्रम संचालित कराए जाएं। ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ का पालन कराया जाए। इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर के साथ-साथ एल-2 कोविड हॉस्पिटल को निरन्तर सक्रिय रखा जाए।

Closing Bell 15 Sep 2020, Sensex Gains 288 Points, Nifty Ends Above 11,500-सेंसेक्स में 288 प्वाइंट की जोरदार तेजी, निफ्टी 11,500 के ऊपर बंद

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जनपद में हर परियोजना के लिए एक नोडल अधिकारी नामित किया जाए। परियोजनाओं की साप्ताहिक/पाक्षिक समीक्षा की जाए, जिससे उन्हें गुणवत्तापूर्ण ढंग से निर्धारित समय-सीमा में पूरा कराया जा सके। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की भौतिक प्रगति से अवगत कराते हुए यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट भेजा जाए। शासन स्तर पर भी प्रकरण लम्बित न रहे और स्वीकृत धनराशि समय से निर्गत की जाए।

सीएम योगी ने कहा कि आगरा मण्डल में खारे पानी की समस्या है। मण्डल के कुछ क्षेत्र फ्लोराइड प्रभावित हैं। पेयजल योजनाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए अटल भूजल योजना के तहत कार्य कराया जाए। जल-वन मिशन की योजनाएं आगे बढ़ाई जाएं। उन्होंने मण्डलायुक्त आगरा को निर्देशित किया कि जनप्रतिनिधिगण तथा सभी सम्बन्धित संस्थाओं के साथ समन्वय बनाकर पेयजल की समस्या का समाधान कराएं। उन्होंने मण्डल में ‘हर घर नल’ योजना एवं निर्माणाधीन पाइप पेयजल योजनाओं को समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराने के निर्देश भी दिए।

राजकीय सेवाओं में खिलाड़ियों के लिए आरक्षित रिक्त पदों को अभियान चलाकर भरा जाए: CM योगी

उन्होंने कहा कि आगरा स्मार्ट सिटी और अमृत योजना के कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण किया जाए। आगरा के मुगल म्यूजियम का नाम परिवर्तित कर छत्रपति शिवा महाराज के नाम पर रखा जाए। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार से समन्वय बनाकर आगरा एयरपोर्ट के सम्बन्ध में प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत किया जाए। आगरा एयरपोर्ट एवं आगरा मेट्रो के कार्य को त्वरित गति से आगे बढ़ाया जाए। पर्यटन विभाग से जुड़ी योजनाओं को भी समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास परियोजनाओं के लिए भूमि की उपलब्धता आवश्यक है। इसलिए इससे जुड़े प्रकरणों में तत्काल निर्णय लेते हुए समाधान निकाला जाए। इससे सम्बन्धित कार्यवाही में विलम्ब न हो। किसी भी स्तर पर लम्बित प्रस्ताव को तत्काल स्वीकृत किया जाए। सभी विकास कार्यों के साथ जनप्रतिनिधियों को जोड़ा जाए। सामुदायिक शौचालय व ग्राम पंचायत सचिवालय के निर्माण सम्बन्धी कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण कराने की कार्यवाही हो। ग्राम सचिवालय को आॅप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा। आॅनलाइन सुविधा उपलब्ध होने से सुशासन को बल मिलेगा और ग्राम स्तर पर रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। उन्होंने कहा कि आगरा मण्डल में सड़कों का निर्माण व मरम्मत युद्धस्तर पर हो। बरसात के समाप्त होते ही सड़कों को गड्ढामुक्त किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण व शहरी) के तहत निर्माण की जियो टैगिंग की जाए। उन्होंने कोविड-19 के प्रोटोकाॅल का पालन कराते हुए सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित किए जाने के निर्देश दिए।

लखनऊ- सीएम योगी आदित्यनाथ आज शाम 6 बजे बस्ती मंडल की करेंगे समीक्षा !

उन्होंने कहा कि हर जनपद में ओडीओपी के तहत चयनित उत्पादों को बढ़ावा दिया जाए। इन उत्पादों के सम्बन्ध में हस्तशिल्पियों व कारीगरों को प्रशिक्षित करने, उत्पादों की ब्राण्डिंग, मार्केटिंग व प्रदर्शनी लगाए जाने की कार्यवाही भी की जाए। फिरोजबाद जनपद में ग्लास उद्योग की व्यापक सम्भावनाएं हैं। इसी प्रकार आगरा मण्डल के प्रत्येक जनपद में ओडीओपी व एमएसएमई के तहत योजनाएं बनाकर उन्हें संचालित किया जाए, जिससे रोजगार सृजित हो सकें।

उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत अधिक से अधिक मानव दिवस सृजित करते हुए कार्य उपलब्ध कराए जाएं। किसानों के हित की योजनाएं बेहतर ढंग से संचालित की जाएं। उन्होंने नदियों के र्णोद्धार तथा तालाबों के पुनरुद्धार कार्य को योजनाबद्ध तरीके से सम्पादित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गोआश्रय स्थलों में गोवंश के लिए चारे की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए गोवंश का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए।

सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के आर्थिक पैकेज के तहत विकासखण्ड स्तर पर कृषि अवस्थापना की योजनाएं तैयार की जाएं, जिससे इस पैकेज का अधिकाधिक लाभ किसानों को मिले। इसके तहत खाद्यान्न भण्डारण हेतु गोदाम, कोल्ड स्टोरेज आदि के निर्माण को बढ़ावा दिया जाए। जनप्रतिनिधिगण से संवाद स्थापित कर एफपीओ का गठन किया जाए। उन्होंने कहा कि इससे कृषकों और कृषि क्षेत्र को लाभ होगा। किसानों को उर्वरकों की उपलब्धता में कोई असुविधा न हो। खाद की कालाबाजारी करने वाले तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उर्वरक आपूर्ति की प्रभावी माॅनीटरिंग की जाए।

बिजनौर के गौ-आश्रय स्थल की व्यवस्थाओं के लिए सीएम योगी ने दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राजस्व संग्रह पर विशेष ध्यान दिया जाए। एसटी के तहत व्यापारियों का अधिक से अधिक पंकरण कराया जाए। उन्होंने जिलाधिकारियों को राजस्व संग्रह की विभागवार समीक्षा करने के निर्देश भी दिए। प्रत्येक जनपद में जल रही विकास योजनाओं की समीक्षा हो। 1 लाख रुपए से 10 करोड़ रुपए के मध्य के लागत की योजनाओं की भी समीक्षा की जाए।

बैठक में सीएम योगी को अवगत कराया गया कि आगरा मण्डल में 50 करोड़ रुपए से अधिक की कुल 22 परियोजनाएं संचालित हैं। इनमें जनपद आगरा में 11, मथुरा में 4, फिरोजाबाद में 5 व मैनपुरी में 2 परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। इनमें से 13 परियोजनाएं 67 से 99 प्रतिशत तक पूर्ण हो गई हैं। शेष का निर्माण कार्य प्रगति पर है। शुद्ध पेयजल एवं सीवरेज की समस्या के समाधान के लिए जनपद आगरा में 5, फिरोजाबाद में 2 तथा मथुरा में 2 परियोजनाएं संचालित की जा रही हैं। जनपद आगरा में गंगाजल परियोजना के माध्यम से वर्तमान में 350 एमएलडी स्वच्छ गंगाजल की आपूर्ति की जा रही है।

विमान संशोधन विधेयक 2020 राज्यसभा में पारित, जल्द अधिनियम बनने के लिए | भारत समाचार

जनपद फिरोजाबाद में जसराना नहर परियोजना का कार्य लगभग 99 प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। इसके माध्यम से नगर निगम फिरोजाबाद को फिरोजाबाद शहर के लिये 50 क्यूसेक पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। जनपद फिरोजाबाद में मेडिकल काॅलेज का निर्माण कार्य लगभग 87 प्रतिशत पूर्ण है। इस मेडिकल काॅलेज में वर्ष 2019 से अध्ययन सत्र प्रारम्भ करा दिया गया है। जनपद फिरोजाबाद में सीवरेज योजना का कार्य 98 प्रतिशत पूर्ण किया जा चुका है तथा शेष कार्य पूर्ण किये जाने हेतु शासन से आवश्यक धनराशि अवमुक्त की जानी है।

जनपद मथुरा में सीवरेज एवं स्टॉर्म वॉटर ड्रेन समस्या के समाधान हेतु 3 परियोजनायें संचालित हैं, जो जून 2021 तक पूर्ण कर ली जाएंगी। जनपद मैनपुरी में निर्माणाधीन सैनिक स्कूल एवं राजकीय इंनियरिंग कॉलेज का निर्माण कार्य क्रमशः लगभग 89 प्रतिशत एवं 87 प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। इन दोनों ही कॉलेजों में अध्यापन कार्य कमशः वर्ष 2019 एवं वर्ष 2017 से प्रारम्भ हो चुका है।

यूपी के पूर्वी भागों में भारी बारिश की संभावना, 20 सिंतबर से मौसम हो जाएगा साफ

50 करोड़ रुपए से अधिक लागत की सड़क निर्माण योजना के अन्तर्गत जनपद आगरा में 1, फिरोजाबाद में1, मथुरा में 4 व मैनपुरी में 1, इस प्रकार कुल 7 सड़क निर्माणाधीन हैं। इन 7 सड़कों की स्वीकृत लम्बाई 220.45 कि0मी0 तथा स्वीकृत लागत 1345.79 करोड़ रुपए निर्धारित है। अब तक 578.46 करोड़ रुपए की धनराशि अवमुक्त की गयी है, जिसमें से 578.06 करोड़ रुपए का व्यय किया जा चुका है। यह अवमुक्त धनराशि का 99 प्रतिशत है। वर्तमान में 5 परियोजनाओं का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

जनपद आगरा में स्मार्ट सिटी योजना संचालित है। दिनांक 3 सितम्बर, 2020 को देश के स्मार्ट सिटीज की जारी रैंकिंग में आगरा का स्थान पूरे देश में राष्ट्रीय स्तर पर तृतीय एवं उत्तर प्रदेश में घोषित स्मार्ट सिटी की सूची में प्रथम स्थान पर है।

योजना के तहत कुल कार्यों की संख्या 19 है, जिसके सापेक्ष 4 कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं। शेष 15 कार्य प्रगति पर हैं। इन परियोजनाओं को पूर्ण किए जाने हेतु टाइमलाइन निर्धारित कर दी गयी है। समस्त परियोजनाएं माह अगस्त, 2021 तक पूर्ण करा ली जाएंगी। माह अक्टूबर, 2020 के अन्त तक अन्य 5 परियोजनाएं पूर्ण किये जाने हेतु लक्ष्य निर्धारित किया गया है। माह मई, 2021 तक लगभग 70 प्रतिशत परियोजनाओं का कार्य पूर्ण कर लिए जाने हेतु टाइमलाइन तय की गयी है।

यूपी- पुलिस मुठभेड़ में 20-20 हजार के दो इनामिया गिरफ्तार, एक गोली लगने से घायल

स्मार्ट सिटी योजनान्तर्गत 24 घण्टे वाॅटर सप्लाई के लिये 62.4 किमी एचडीपीई पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है। सीवरेज व्यवस्था के लिये 1,328 मेलहॉल के साथ 40 कि0मी0 डी0डब्ल्यूू0सी0 पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है, जिसकी टेस्टिंग का कार्य प्रगति पर है।

स्मार्ट सिटी परियोजनान्तर्गत अत्याधुनिक कमाण्ड एवं कण्ट्रोल सेण्टर के प्रथम फेज में 590 सीसीटीवी कैमरे नगरवासियों की सुरक्षा एवं 200 सीसीटीवी कैमरे नगर के उपयुक्त स्थलों पर यातायात नियंत्रण के लिए स्थापित कराए गए हैं। साथ ही, यातायात प्रबन्धन के तहत नगर के 40 चैराहों की निगरानी उच्च तकनीक के माध्यम से उक्त सेण्टर द्वारा की जा रही है। आगरा में स्मार्ट सिटी परियोजनान्तर्गत पीपीपी मोड पर एक स्मार्ट हेल्थ सेण्टर स्थपित कराया गया है, जिससे दैनिक आधार पर लगभग 100 से 150 लोग स्वास्थ्य परीक्षण का लाभ प्राप्त कर रहे हैं।

अमृत योजना के तहत जलापूर्ति के लिए आगरा मण्डल के विभिन्न जनपदों में कुल 10 परियोजनाएं निर्धारित की गई है। इसमें से 5 परियोजनाएं पूर्ण की जा चुकी हैं। योजना के तहत 86,749 घरेलू कनेक्शन देने का लक्ष्य है। अब तक 53,694 दिए जा चुके हैं, जो लक्ष्य का 61.90 प्रतिशत है। सीवरेज एवं सेप्टेज प्रबन्धन के अन्तर्गत आगरा मण्डल के विभिन्न जनपदों में 11 परियोजनाएं अनुमोदित की गई हैं, जिसमें 07 परियोजनाएं पूर्ण की जा चुकी हैं। अब तक मण्डल के विभिन्न जनपदों में 1,02,113 सीवर कनेक्शन दिए जा चुके हैं।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here