यूपी- स्वास्थ्य विभाग में 50 साल से अधिक उम्र के बाबुओं की स्क्रीनिंग और छंटनी के आदेश

0
43
UP Health Department
.

लखनऊ. योगी सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है। पुलिस विभाग के बाद अब स्वास्थ्य विभाग में 50 साल से अधिक उम्र वाले बाबुओं की स्क्रीनिंग और छटनी के आदेश दिए हैं। इसके लिए योगी सरकार ने 4 सदस्यीय टीम का गठन भी किया गया है। आपको बता दें, इससे पहले योगी सरकार ने पुलिस विभाग में 50 साल से अधिक उम्र वाले पुलिसकर्मियों की स्क्रीनिंग और छटनी के आदेश दिए थे।

योगी सरकार (Yogi Government) ने तय किया है कि कार्यालयों और अस्पतालों में भ्रष्टाचार में लिप्त और खराब परफार्मेंस वाले 50 वर्ष से अधिक आयु के बाबुओं को सूचीबद्ध कर इन्हें जबरन रिटायर किया जाएगा। इसके लिए चार सदस्यीय स्क्रीनिंग कमेटी बनाई गई है। स्क्रीनिंग कमेटी को आदेश दिए गए हैं कि खराब परफार्मेंस वाले क्लर्कों को सूचीबद्ध करें, ताकि इन्हें तत्काल रिटायर किया जा सके।

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने कार्यालयों और अस्पतालों में कार्यरत लिपिकों की दक्षता सुनिश्चित करने और अनिवार्य सेवानिवृत्ति के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन (Screening committee constituted) कर दिया है। निदेशक (प्रशासन) डॉ. पूजा पांडेय की ओर से स्क्रीनिंग कमेटी के गठन के आदेश जारी कर दिए गए हैं। 50 वर्ष से अधिक आयु के क्लर्कों को स्क्रीनिंग कर जबरन रिटायर किया जाएगा। स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष अपर निदेशक (प्रशासन) को बनाया गया है, वहीं संयुक्त निदेशक (कार्मिक), संयुक्त निदेशक (मुख्यालय) और वरिष्ठ लेखाधिकारी को सदस्य बनाया गया है।

स्क्रीनिंग कमेटी के गठन के आदेश का पत्र जारी होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारियों में बैचेनी बढ़ गई है। बाबुओं के बीच इस स्क्रीनिंग कमेटी को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं। कौन रहेगा और कौन बाहर होगा, इसे लेकर वे दशहत में हैं। उधर, निदेशक (प्रशासन) डॉ. पूजा पांडेय की ओर से स्क्रीनिंग कमेटी को निर्देश दिए गए हैं कि वह स्क्रीनिंग की प्रक्रिया जल्द शुरू करें और खराब परफार्मेंस वाले बाबुओं को सूचीबद्ध करें, ताकि इन्हें तत्काल रिटायर किया जा सके।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछले तीन सालों में लगतार स्वास्थ्य विभाग में हुई कई घटनाओं से सरकार की किरकिरी हुई है। तमाम कोशिशों के बाद भी स्वास्थ्य विभाग में कोई सुधार देखने को नहीं मिला है। इन सभी बिंदुओं को देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने खराब परफार्मेंस वाले बाबुओं को सूचीबद्ध कर जबरन रिटायर करने का फैसला लिया है। इस आदेश के बाद विभाग के कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति है। फैसले से नाराज लिपिक संवर्ग ने 14 अक्टूबर को आंदोलन करने का ऐलान किया है। स्वास्थ्य विभाग में प्रदेश भर में लिपिक संवर्ग के 1400 से 1500 कर्मचारी तैनात हैं। इनमें से 50 से ज्यादा उम्र के करीब 30 से 40 प्रतिशत कर्मचारी हैं।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here