Prayagraj Congress Worker Protest Latest News And Updates: Police Lathicharge On Congress Worker In Prayagraj Uttar Pradesh | प्रयागराज में प्रदर्शन कर रहे युवाओं से पुलिस की झड़प, पथराव कर कई वाहनों के शीशे तोड़े, मुरादाबाद में कांग्रेसियों ने मांगी भीख

0
35
.

प्रयागराज, गोरखपुर, बागपत में में बेरोजगारी के मुद्दे पर युवाओं व कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन

  • महोबा में सड़क पर उतरे सपा कार्यकर्ता, पांच साल संविदाकर्मी की नौकरी वाले निर्णय को वापस लेने की मांग

एक तरफ जहां आज देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 70वां जन्मदिन जनसेवा सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है तो वहीं, विपक्षी पार्टियां सपा-कांग्रेस उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बेरोजगारी के मुद्दे पर अपने अपने ढंग से प्रदर्शन कर रही हैं। कानपुर, मुरादाबाद में सपा और कांग्रेस ने जोरदार प्रदर्शन किया। वहीं, प्रयागराज में सरकारी नौकरी में शुरुआती 5 साल संविदा कर्मचारी के रूप में काम करने के प्रस्ताव के विरोध में छात्र और युवा भी सड़कों पर उतरे। जिनका कांग्रेस ने समर्थन किया। इस दौरान पुलिस से झड़प के बाद पथराव हुआ है। पुलिस ने 20 से अधिक युवाओं को गिरफ्तार किया है।

प्रयागराज में कांग्रेसियों को गिरफ्तार किया गया।

प्रयागराज में युवाओं ने पथराव कर कई गाड़ियों के शीशे तोड़े

शहर के सिविल लाइन में लोकसेवा आयोग कार्यालय के पास गुरुवार को एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। जिसमें आम युवा भी शामिल हुए। इस दौरान पुलिस ने उन्हें हटाने की कोशिश की तो भिड़ंत हो गई। जिस पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया तो कांग्रेसियों ने पथराव कर दिया। इस दौरान कई वाहनों में तोड़फोड़ की गई। भारद्वाज चौराहे से लेकर आनंदभवन तक खूब हंगामा हुआ है। पुलिस ने 20 से अधिक युवाओं को गिरफ्तार किया है। तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स मुस्तैद है।

महोबा में सड़क पर उतरे युवा, कहा- काला कानून वापस हो

महोबा में भी पांच साल की संविदाकर्मी के प्रस्ताव के विरोध में युवा सत्यमेव जयते युवा सोच संगठन के कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। आल्हा चौक पर भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। संगठन के अध्यक्ष विकास यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में युवाओं के विरोध में काला कानून संविदा नौकरी को लेकर युवाओं में खासा आक्रोश है। इस कानून से क्या गारंटी है कि युवाओं को रोजगार मिल पाएगा। इसके विरोध में सड़क से संसद तक प्रदर्शन किया जाएगा। हम प्रधानमंत्री के जन्मदिवस पर यह जताने की कोशिश है कि देश में रोजगार नहीं है युवा दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है।

मुरादाबाद में कांग्रेसियों ने मांगी भीख, हाथ में थमा कटोरा

मुरादाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाते हुए कलेक्ट्रेट परिसर में हाथ में कटोरा लेकर भीख मांगी। प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी के नाम पर सिटी मजिस्ट्रेट और पुलिसकर्मियों से भीख मांगी। साथ ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री को जन्मदिन की भी बधाई दी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने कहा कि सरकार लोगो को बेरोजगार करने की जगह रोजगार के नए अवसर पैदा करें।

मुरादाबाद में कांग्रेसियों ने मांगी भीख।

मुरादाबाद में कांग्रेसियों ने मांगी भीख।

गोरखपुर में सेवा योजन कार्यालय पर ताला जड़ने पहुंचे कांग्रेसी

गोरखपुर में महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेसी क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय पर तालाबंदी करने जा रहे थे। लेकिन कैंट पुलिस ने सेवायोजन कार्यालय गेट पर ही रोक दिया। इसके बाद महानगर अध्यक्ष आशुतोष तिवारी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने गेट के सामने जमीन पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया। आशुतोष तिवारी ने कहा कि देश का युवा आज बेरोजगार है और हमारे प्रधानमंत्री अपना जन्मदिन मना रहे हैं। उन्होंने युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन आज युवा बेरोजगार है। आत्महत्या कर रहा है। उसकी डिग्रियां बर्बाद हो रही हैं। हम मांग करते हैं कि बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिया जाए या फिर इस सेवायोजन कार्यालय में ताला बंद कर दिया जाए।

गोरखपुर में प्रदर्शन करते सपा कार्यकर्ता।

गोरखपुर में प्रदर्शन करते सपा कार्यकर्ता।

बागपत में थाली पीटकर सपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

बागपत में सपा नेता अनुज पंवार की अगुवाई में बड़ौत तहसील में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। दिल्ली-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर कार्यकर्ताओं ने थाली पीटकर प्रदेश सरकार को किसान, मजदूर, युवा विरोधी सरकार बताया। कार्यकर्ता जुलूस के रूप में तहसील पहुंचे। यहां पर कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन करते हुए देश के प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को दिया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि प्रदेश सरकार ने युवाओं को बेरोजगारी के कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। पांच साल की संविदा पर नौकरी देने के फैसले को लेकर हर कोई असमंजस की स्थिति में है। क्योंकि यह नियम हर किसी को बर्बाद कर देगा। किसानों को उनकी फसलों का ना तो वाजिब दाम मिल पा रहा है, ना ही 14 दिन की घोषणा के अनुसार गन्ना भुगतान मिल पा रहा है।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here