Urmila Matondkar says – Which girl from a civilized culture house would use this kind of language to say ‘Kya ukhaad loge’ and ‘kiske baap ka kya hai’. | कंगना की टिप्पणी पर उर्मिला का प्रतिक्रिया देने से इनकार, बोलीं- कोई साबित कर दे कि मैंने भाजपा से टिकट वाली बात कही है तो अपना नाम बदल लूंगी

0
60
.

 

कंगना ने कहा था कि उर्मिला सॉफ्ट पोर्न स्टार हैं और जाहिर तौर पर वे अपनी एक्टिंग के लिए नहीं जानी जातीं।

कंगना रनोट ने हाल ही में एक टीवी इंटरव्यू के दौरान उर्मिला मातोंडकर को ‘सॉफ्ट पोर्न स्टार’ बताया था। इस बारे में उर्मिला ने किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा ‘मुझे नहीं लगता कि इस बारे में अब मेरी ओर से किसी भी तरह से कुछ कहना बाकी रह गया है।’ ये बात उन्होंने बरखा दत्त को दिए इंटरव्यू में कही।

बरखा से बातचीत के दौरान उर्मिला ने कहा ‘मुझे कंगना पर किसी भी तरह के निजी कमेंट करने में कोई रुचि नहीं है। आप मेरे सभी इंटरव्यूज देख सकते हैं, मैंने ना तो अभी और ना ही पहले कभी उन पर किसी तरह का कोई पर्सनल कमेंट किया है। बल्कि मैंने तो काम को लेकर हमेशा उनकी तारीफ ही की है।’

उर्मिला बोलीं- तो अपना नाम बदल लूंगी

आगे उर्मिला ने कहा, ‘साथ ही कंगना ने ये दावा भी किया है कि मैंने उनके बारे में ये भी कहा है कि वो ये सब भाजपा की टिकट के लिए कर रही हैं। तो अगर कोई मुझे ये बता दे कि मैंने कब, कहां और कौन सी भाषा में ऑनलाइन या ऑफलाइन दिए किस इंटरव्यू में ये बात कही थी। तो मैं अपना नाम बदल लूंगी या मुझसे जो करने को कहा जाएगा वो मैं करूंगी।’

कंगना ने कहा था सॉफ्ट पोर्न स्टार

टाइम्स नाउ से बातचीत में कंगना ने कहा था, ‘मैंने उर्मिला का एक अपमानजनक इंटरव्यू देखा। उसने जिस तरीके से मेरे बारे में बात की, वह मुझे उकसाने के लिए है। उसने मेरे स्ट्रगल का मजाक उड़ाया। वो मुझ पर इसलिए हमलावर है, क्योंकि मैं भाजपा से टिकट चाहती हूं, जो मेरे लिए इतना मुश्किल भरा भी नहीं है।’

कंगना ने आगे कहा था, ‘उर्मिला सॉफ्ट पोर्न स्टार हैं। मैं जानती हूं कि यह थोड़ा ज्यादा है। लेकिन जाहिर तौर पर वे अपनी एक्टिंग के लिए नहीं जानी जातीं। वे किस बात के लिए जानी जाती हैं? सॉफ्ट पोर्न करने के लिए। अगर उन्हें टिकट (कांग्रेस से) मिल सकता है तो मुझे क्यों नहीं मिल सकता।’

उर्मिला ने कहा था- आपको सबसे शिकायत क्यों है?

इससे पहले बुधवार रात इंडिया टुडे से बातचीत में कंगना को लेकर उर्मिला ने कहा था कि ‘आप पिछले 10 सालों से ज्यादा वक्त से जिस इंडस्ट्री में काम कर रही हैं, अब अचानक आपको वहां हर किसी से समस्या क्यों होने लगी? आपको ये तय करना होगा कि क्या आप लगातार विक्टिम कार्ड खेलते हुए बिना रूके कहना चाहती हैं, मैं तो विक्टिम हूं, विक्टिम हूं।’

सभ्य घर की कौन सी लड़की ऐसी भाषा बोलती है

वहीं एक अन्य चैनल से बात करते हुए उर्मिला ने कंगना की भाषा पर सवाल उठाते हुए कहा कि, ‘एक सभ्य संस्कृति वाले घर की कौन सी लड़की इस तरह की भाषा का प्रयोग करती है कि ‘क्या उखाड़ लोगे’, ‘किसके बाप का क्या है’। ये सभी शब्द जया बच्चन जी जैसे वरिष्ठ सहकर्मी को लेकर भी कहे गए। क्या ये सब कुछ अच्छी नीयत से थे। क्या ये सब किसी भी तरह से भारतीय संस्कृति में आते हैं। भारतीय संस्कृति का कौन सा पन्ना ये सब सिखाता है?’

कोई नहीं चाहेगा कि उनके बच्चे कंगना जैसी भाषा बोलें

उर्मिला ने ये भी कहा कि कंगना उन सभी लोगों का अपमान कर रही हैं, जिन्होंने उन पर प्यार और स्नेह बरसाया और एक मुंबईकर होने के नाते मुझे लगता है कि ये सब सही नहीं है। आगे उन्होंने कहा, कंगना देश के सामने एक बहुत ही गलत उदाहरण प्रस्तुत कर रही हैं। उर्मिला के मुताबिक लोग नहीं चाहेंगे कि उनके बच्चे कंगना से प्रेरणा लें जो इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करती है।

ड्रग्स लेने वाले लोग जरूर होंगे

बॉलीवुड में 99 प्रतिशत लोगों के ड्रग्स लेने वाले कंगना के बयान को लेकर उर्मिला ने कहा, ‘दुर्भाग्य से भारत में ड्रग हर जगह आसानी से उपलब्ध है। लेकिन ये दावा करना कि पूरी इंडस्ट्री ड्रग माफिया से जुड़ी हुई है, ये ना केवल बढ़ा-चढ़ाकर दिया गया बयान है, बल्कि मुझे नहीं पता कि इसे क्या कहा जाना चाहिए।’

आगे उन्होंने कहा मैं इस बात से इनकार नहीं करती कि फिल्म इंडस्ट्री में भी कुछ लोग ऐसे होंगे जो ड्रग्स का सेवन करते होंगे। ऐसे लोगों का पता लगाकर उनके खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए।’

 

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here