नए कपड़ों को बिना धोए पहनने की आदत को आज ही त्यागें, नहीं तो भुगतना पड़ेगा खामियाजा

0
59
new clothes
.

अक्सर हम नए कपड़ों को बिना धोएं पहन लेते हैं क्योंकि नए कपड़ा धोना हमारी आदत में नहीं होता है। क्या आप जानते हैं आपकी ये आदत आपको बड़ी मुसीबत में डाल सकती है। जी हां कपड़ों को शॉपिंग बैग से सीधे निकालकर पहन लेने से आपको मंहगा पड़ सकता है। आइए जानते हैं नए कपड़ों को पहनने से पहले हमें क्यों उन्हें धोकर पहनना चाहिए।

नए कपड़ों में होते हैं कीटाणु

विशेषज्ञों की मानें तो जो कपड़े आप बड़े शौक से शॉपिंग करके अपने घर लाते हैं, उनके साथ ढेरों कीटाणु भी कपड़े में चिपककर आपके घर तक पहुंच जाते हैं। शॉपिंग के समय कपड़ों को ट्रायल के दौरान हजारों बार पहना जाता है, जिससे लोगों के पसीने के साथ कीटाणु भी उन कपड़ों के साथ चिपक जाते हैं।

कपड़े पर लगे केमिकल से होती है खुजली

कपड़ों को पैक करते समय रसायन से कवर करके रखा जाता है, जो आपकी त्वचा के संपर्क में आकर बुरा असर डाल सकते हैं। कपड़ों की प्रोसेसिंग करते समय कई तरह के रसायनों का प्रयोग किया जाता है, जिसे बिना धोए पहनने पर व्यक्ति को दाद, खाज और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

ये भी पढ़ें- 50 साल के बाद भी मां बनना होगा आसान, इस इलाज से पूरा होगा महिलाओं का सपना

डाई कलर्स एलर्जी का कारण

प्राकृतिक धागों का अपना कोई रंग नहीं होता, इसलिए उन्हें सुंदर रंगों में रंगा जाता है। कपड़ों की रंगाई, छपाई और डाई जैसी प्रक्रियाओं में उसपर विभिन्न प्रकार के केमिकल्स लगाए जाते हैं। ज़्यादातर रंगीन कपड़ों में ऐजो डाईस का इस्तेमाल किया जाता है। कपड़ा जितना रंगीन और चटक होगा उसमें उतनी अधिक डाई का इस्तेमाल किया जाएगा। ऐजो डाई के सीधे त्वचा के संपर्क में आने से त्वचा में बहुत अधिक जलन और परेशानी होती है, जिसकी वजह से एलर्जी हो सकती है।

त्वचा रोग की समस्या

बाजार से कोई भी कपड़ा सीधा घर लाकर पहनने से पहले उस कपड़े को कई लोग पहले ही ट्राई करते समय पहन चुके होते हैं। ऐसे में उनके शरीर का पसीना, धूल-मिट्टी या कोई स्किन इंफेक्शन आपके लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here