एसपी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप पर विजिलेंस की भी नजर, एसआइटी को रिपोर्ट सौंपने के लिए मिला तीन दिन का समय

0
135
.

 

उत्तर प्रदेश में महोबा जिले के निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार के विरुद्ध भ्रष्टाचार की शिकायतों की जांच कर रहा सर्तकता अधिष्ठान (विजिलेंस) की नजर एसआईटी की रिपोर्ट पर भी है। वाराणसी रेंज के आईजी विजय सिंह मीना की अध्यक्षता में गठित इस तीन सदस्यीय एसआईटी ने अपनी जांच में यह मान लिया है कि तत्कालीन एसपी के दबाव में पुलिस क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी का उत्पीड़न कर रही थी। जिससे इंद्रकांत मानसिक रूप से बेहद परेशान थे। हालांकि डीजीपी एचसी अवस्थी ने रिपोर्ट सौंपने के लिए एसआईटी को तीन दिन का और समय दिया है।

एसआईटी की रिपोर्ट यह साफ संकेत दे रही है कि महोबा में पुलिस का तंत्र धनउगाही में लगा हुआ था। एसपी पर पैसा मांगने का आरोप लगाने के बाद इंद्रकांत अपनी जान को खतरा बताने लगे थे। इसी बीच वह संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हुए और अंतत: उनकी मौत हो गई। एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में मानसिक रूप से भारी तनाव में होने के कारण इंद्रकांत द्वारा आत्महत्या किए जाने का अंदेशा जताया है।

 एसपी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप 

यह निष्कर्ष इस आधार पर भी निकाला जा रहा है कि इंद्रकांत को अपनी ही लाइसेंसी रिवाल्वर से गोली लगी है। इस तरह एसआईटी की जांच में एसपी के भ्रष्टाचार में लिप्त होने की संभावना दिख रही है। विजिलेंस की पूरी जांच ही एसपी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर केंद्रित है। विजिलेंस की टीम ने भी जिले का दौरा कर पुलिसकर्मियों से लेकर मृतक व्यापारी के परिवार के परिजनों तक से पूछताछ की थी।

विजिलेंस सूत्रों की माने तो मणिलाल पाटीदार की संपत्तियों के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। इसमें बैंक खातों का विवरण भी शामिल है। पुलिस के साथ ही एसआईटी तक अभी तक उनके पूछताछ नहीं कर पाई है। अपनी जांच के दौरान विजिलेंस उनका भी बयान दर्ज करेगी। इस बीच विभिन्न संगठनों की तरफ से पुलिस पर पाटीदार को गिरफ्तार करने का दबाव बन रहा है।

एसआईटी मंगलवार को सौंपेगी रिपोर्ट
महोबा कांड की जांच कर रही एसआईटी ने डीजीपी से तीन दिन का समय और मांगा है। एसआईटी ने बैलिस्टिक रिपोर्ट समेत मणिलाल पाटीदार पर आरोपों की जांच के लिए अतिरिक्त समय की मांग की। डीजीपी ने यह मांग मान ली है। एसआईटी अब मंगलवार तक अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

 

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here