लखनऊ- लोहिया संस्थान मनमानी पर उतारू, कोविड अस्पताल में लगा रहा गर्भवती नर्सों की ड्यूटी !

0
413
Lucknow Lohia institute arbitrary covid Hospital duty pregnant nurses
.

लखनऊ। (फर्स्ट आई न्यूज ब्यूरो) केंद्र सरकार की कोविड-19 की गाइडलाइन का राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान खुली धज्चियां उड़ा रहा है। संस्थान के सी0एम0एस0 व डिप्टी सी0एम0एस0 के तुगलकी फरमान से संस्थान के नर्सिंग स्टाफ में जबरदस्त रोष है। गर्भवती नर्सिंग स्टाफ से जबरन कोविड वार्डों में ड्यूटी करायी जा रही है। वहीं दूसरी ओर सी0एम0एस0 अपने ही जारी आदेश में मेडिकल बोर्ड द्वारा इन नर्सिंग स्टाफ को कोविड वार्ड में ड्यूटी करने की छूट का हवाला भी दे रहे हैं।

लखनऊ स्थित राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान पिछले काफी दिनों से राजनीति का अखाड़ा बना हुआ है। यहां तैनात रहे कई विवादित निदेशकों ने संस्थान की इमेज और खराब कर दी है।

यह भी पढ़ें- सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाथरस के पीड़ित परिवार से वीडियो कॉलिंग पर की बात, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का दिया भरोसा

इस संस्थान में कार्यरत अधिकारी पूरी तरह बेलगाम हैं। मरीजों को नई जिंदगी देने के बजाए अपना सारा समय अंदरुनी राजनीति और धन कमाने में खर्च कर रहे हैं। यहां तैनात कई वरिष्ठों के निजी व्यवसाय भी बताए जाते हैं। निजी प्रैक्टिस के साथ ही व्यवसाय के प्रति रुझान अधिक होने से इनके पदीय दायित्व प्रभावित हो रहे हैं।

संस्थान के मुख्य चिकित्सा अधिक्षक ने 21 अगस्त 2020 को जारी कार्यालय आदेश पत्रांक संख्या 122 में स्पष्ट तौर पर कहा है कि संस्थान में गठित मेडिकल बोर्ड द्वारा कर्मचारियों को उनकी विषम परिस्थितियों में कोविड ड्यूटी से छूट प्रदान की जाती है। इनकी ड्यूटी कोविड हास्पिटल के ग्रीन एरिया/नॉन कोविड हास्पिटल में ही लगाई जा सकती है। लेकिन संस्थान के सी0एम0एस0 डॉ0 राजन भटनागर व डी0एम0एस0 कामिनी कपूर अपने ही आदेश की अनदेखी कर उल्लखित दिशा निर्देशों के विपरीत कार्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- हाथरस कांड- पीड़ित के जबरन अंतिम संस्कार पर ADG प्रशांत कुमार ने कहा- शव खराब हो रहा था, परिवार की सहमति से जलाया गया

कहा जाता है कि डी0एम0एस0 सी0एम0एस0 पर भारी है और उनकी ही सांठगांठ से नर्सिंग स्टाफ का उत्पीड़न हो रहा है। जबकि केंद्र सरकार की कोविड-19 गाइडलाइन में ऐसे सभी नर्सिंग स्टाफ को कोविड वार्ड में ड्यूटी करने से छूट प्रदान की गई है। लेकिन केंद्र सरकार की गाइड लाइन लोहिया संस्थान नहीं मान रहा है।

उधर नर्सिंग संघ के महामंत्री अमित शर्मा ने कहा है कि सी0एम0एस0 का आदेश सिर्फ कर्मचारियों को बेवकूफ बनाने वाला है। कोविड अस्पताल में ग्रीन जोन का कोई मतलब नहीं है। क्योंकि हास्पिटल में कोई ग्रीन जोन है ही नहीं। यह आदेश सिर्फ भ्रमित करने वाला है। उन्होंने कहा कि जब मेडिकल बोर्ड के डॉक्टरों ने कह दिया कि गर्भवती महिला नर्सिंग स्टाफ सहित बीमार व कमजोर लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा अधिक होता है। लेकिन यहां सब संस्थान की मनमर्जी पर है। दूसरी ओर संस्थान के मीडिया प्रभारी डॉ0 ऋषिकेश का कहना है कि सी0एम0एस0 का आदेश गाइडलाइन से जुड़ा हुआ है। संस्थान नर्सिंग ड्यूटी में कोई भेदभाव नहीं कर रहा है।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here