अच्छी खबर- यहां निवेश करके जुटा सकते हैं बड़ी रकम, आने वाले समय के लिए नहीं रहेगी कोई टेंशन, यहां जान लें इससे जुड़ी सारी बातें…

0
50
Investing in PPF is better for those who are self-employed business news in hindi
.

बिजनेस डेस्क। पीपीएफ (PPF) में निवेश करना उन लोगों के लिए बेहतर है, जो सेल्फ इम्प्लॉइड हैं। इसके अलावा, जिन लोगों के पास नौकरी या कारोबार का कोई मजबूत ढांचा नहीं है, उनके लिए यह स्कीम काफी फायदेमंद है। लंबी अवधि के लिए निवेश कर के इस स्कीम में ज्यादा रिटर्न हासिल किया जा सकता है।

मेच्योरिटी पीपीएफ (PPF) अकाउंट में मेच्योरटी 15 साल पर होती है। इसमें मेच्योरिटी के बाद मिलने वाली रकम पूरी तरह टैक्स फ्री होती है।

लगातार नहीं होता है भुगतान

पीपीएफ (PPF) अकाउंट में लगातार ब्याज का भुगतान नहीं किया जाता है। यह आपके अकाउंट में जमा राशि में जुटता रहता है। जब आप मेच्योरिटी के बाद पैसा निकालेंगे तो आपको जमा राशि के साथ ब्याज भी मिल जाएगा।

Investing in PPF is better for those who are self-employed business news in hindi

कैसे ले सकते हैं भुगतान

अकाउंट मेच्योर हो जाने के बाद रकम को अपने सेविंग्स अकाउंट में ट्रांसफर करने के लिए आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस में फॉर्म जमा करना होगा। इसमें पीपीएफ और सेविंग्स अकाउंट की डिटेल देनी होगी। साथ ही फॉर्म पर दस्तखत करके ऑरिजनल पासबुक और कैंसल चेक भी जमा करना होगा।

Investing in PPF is better for those who are self-employed business news in hindi

अकाउंट को आगे के लिए बढ़ा सकते हैं

पीपीएफ अकाउंट को मेच्योरिटी के बाद भी आगे के लिए बढ़ाया जा सकता है। इस खाते को 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए आपको मेच्योरिटी के 1 साल के भीतर फॉर्म एच (Form H) भर के देना होगा।

Investing in PPF is better for those who are self-employed business news in hindi

अपने आप भी बढ़ जाती है अवधि

अगर आप पीपीएफ (PPF) अकाउंट मेच्योर हो जाने के बाद या राशि नहीं निकालते हैं और अकाउंट की अवधि बढ़ाने के लिए फॉर्म नहीं भरते हैं, तो पीपीएफ अकाउंट की मेच्योरिटी अवधि अपने आप 5 साल के लिए बढ़ जाती है। पीपीएफ अकाउंट को आगे भी 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इससे ज्यादा फायदा होता है।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here