कंगना रनौत के ट्वीट की सोनी राजदान ने दिया जवाब, कहा- हां सही है…लेकिन मेंटल हेल्थ की गंभीरता को भी समझना होगा…

0
14
.

मनोरंजन डेस्क। सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में एम्स की फाइनल रिपोर्ट आने के बाद कंगना रनोट ने एक बार फिर मूवी माफिया का राग छेड़ दिया और उनकी खुदकुशी के लिए नेपोटिज्म और मूवी माफिया को जिम्मेदार ठहराया। इस दौरान उन्होंने फिल्म मेकर महेश भट्ट का जिक्र भी किया। जिसके बाद उनकी पत्नी सोनी राजदान ने आरोपों पर रिएक्ट करते हुए कंगना को जवाब दिया है।

एम्स की रिपोर्ट आने के बाद किए अपने ट्वीट में कंगना ने पूछा था, महेश भट्ट किस अधिकार से सुशांत का साइको एनालिसिस कर रहे थे? जिसके बाद इशारों में उन्हें जवाब देते हुए सोनी ने मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे पर गंभीरता से ध्यान देने और इसका मजाक नहीं बनाने की बात लिखी। हालांकि उन्होंने कंगना का नाम नहीं लिया।

हां लोग अचानक खुद को नहीं मार लेते

एम्स की रिपोर्ट को लेकर किए अपने ट्वीट में कंगना ने लिखा था कि ‘यंग और एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी व्यक्ति एक दिन ऐसे ही जागकर खुद को खत्म नहीं कर लेते’। जिसके जवाब में सोनी ने लिखा, ‘वो लोग जो कह रहे हैं कि लोग अचानक सुबह उठकर खुद को मार नहीं लेते हैं…. हां वे ऐसा बिल्कुल नहीं करते हैं और यही मुख्य मुद्दा है। वे कई वर्षों से तकलीफ सह रहे होते हैं और लंबा और कड़ा संघर्ष करने के बाद ही ऐसा करते हैं। जबकि दुखद रूप से इससे बाहर निकलने के लिए उन्हें सिर्फ एक विकल्प चुनने की जरूरत होती है।’

मेंटल हेल्थ पर ध्यान देना बेहद जरूरी

आगे सोनी ने लिखा, ‘विकल्प चुनने का मतलब जिंदगी से दूर हो जाना नहीं है… बल्कि उस तकलीफ से बाहर निकलना है जिससे वे जूझ रहे हैं। दुख की बात है कि वे आत्महत्या भी कर लेते हैं। मानसिक स्वास्थ्य को जरा भी कम नहीं आंकना चाहिए। एक बीमारी के रूप में इसकी गंभीरता को समझना बेहद जरूरी है। साथ ही इसका इलाज कराने में डरने या शर्मिंदा होने जैसी कोई बात नहीं है। ये आपकी जान बचा सकता है।’

कंगना ने किए थे चार ट्वीट

इससे पहले एम्स की रिपोर्ट आने के बाद कंगना ने शनिवार को चार ट्वीट करते हुए एकबार फिर सुशांत की मौत के लिए मूवी माफिया और नेपोटिज्म को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने लिखा कि खुदकुशी के लिए उकसाना भी हत्या होता है।

खास लोग यूं ही खुद को खत्म नहीं कर लेते

एक्ट्रेस ने पहले ट्वीट में लिखा, ‘यंग और एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी व्यक्ति एक दिन ऐसे ही जागकर खुद को खत्म नहीं कर लेते। सुशांत ने कहा था कि उन्हें परेशान किया जा रहा था। वे अपनी जिंदगी के लिए डरे हुए थे। उन्होंने कहा था कि मूवी माफिया ने उन्हें बैन कर दिया और उन्हें परेशान कर रहे हैं। झूठे रेप के आरोप लगाए जाने के बाद वे मानसिक रूप से प्रभावित हुए थे।’

कंगना ने उठाए तीन सवाल

अपने दूसरे ट्वीट में कंगना ने लिखा था- ताजा प्रोग्रेस के बाद हमें कुछ सवालों के जवाब जानने की जरूरत है 1) एसएसआर ने बार-बार बड़े प्रोडक्शन हाउसेस द्वारा प्रतिबंधित किए जाने की बात कही। कौन हैं ये लोग, जिन्होंने उनके खिलाफ साजिश रची? 2) मीडिया ने उनके बलात्कारी होने की झूठी खबरें क्यों फैलाई? 3) महेश भट्ट क्यों सुशांत का साइको एनालिसिस कर रहे थे?

सुशांत की कई फिल्मों को बैन किया गया

कंगना ने तीसरा ट्वीट में लिखा, ‘उन्होंने खुलकर यशराज फिल्म्स के साथ अपने संबंध टूटने पर बात की थी। यह सब जानते हैं कि उन्हें कई बड़े प्रोडक्शन हाउस द्वारा बैन कर दिया गया था। उनकी कई फिल्मों को डंप किया गया, जो कि स्पष्ट साजिश की तरह लगता है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों से भीख मांगी थी और बताया कि उन्हें फिल्म इंडस्ट्री से बाहर निकाला जा रहा है।’

उन्हें जीने से ज्यादा मरना आसान लगा

चौथे ट्वीट में कंगना ने लिखा, ‘उनकी मौत से पहले उनके परिवार ने शिकायत की थी कि उनकी जिंदगी को खतरा है। वे जीना चाहते थे। लेकिन, फिल्में छोड़ना चाहते थे। वे कुर्ग में सेटल होना चाहते थे। फिर उन्हें किसने ब्लैकमेल किया? किसने उन्हें इस तरह कॉर्नर किया कि उन्हें जीने से ज्यादा मरना आसान लगा? नैतिक और कानूनी रूप से आत्महत्या के लिए उकसाना भी हत्या है।’

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here