भदोही- बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की पत्नी को मिली अग्रिम जमानत…

0
28
.

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भदोही में ज्ञानपुर सीट से विधायक विजय मिश्रा की पत्नी रामलली को बड़ी राहत दी है। उनकी सशर्त अंतरिम जमानत मंजूर कर ली है। लेकिन बेटे विष्णु मिश्रा को अग्रमि जमानत देने से इंकार कर दिया। यह आदेश न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा ने सह अभियुक्तों की अर्जियों की सुनवाई करते हुए दिया है। रामलली को हाईकोर्ट ने डेढ़ लाख रुपए के निजी मुचलके पर रिहा करने का आदेश दिया है। रामलली मिर्जापुर-सोनभद्र सीट से विधान परिषद सदस्य हैं।

गिरफ्तारी से बचने के लिए ली थी हाईकोर्ट की शरण

कोर्ट ने विष्णु मिश्र के मामले में यह कहते हुए जमानत देने से इंकार कर दिया कि वे विवेचना में सहयोग नहीं कर रहे हैं। उनके विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। इनके खिलाफ पुनरीक्षण अर्जी खारिज कर दी गई है। पीड़ित पक्ष ने धमकी देने की भी शिकायत की है। ऐसे में अग्रिम जमानत नहीं दी जा सकती है। विष्णु के खिलाफ संत रविदास नगर भदोही के गोपीगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। गिरफ्तारी से बचने के लिए विष्णु ने हाईकोर्ट की शरण ली थी।

कोर्ट ने रामलली पर लगाई यह शर्तें-

  • सात अक्टूबर से एक हफ्ते तक रोज 11 बजे वे विवेचना अधिकारी के सामने हाजिर होंगी।
  • विवेचना में सहयोग करेंगी। एक हफ्ते बाद भी हाजिर होंगी।
  • बिना अनुमति के विदेश भी नहीं जाएंगी।
  • यदि पासपोर्ट है तो उसे संबंधित एसएसपी/एसपी के यहां जमा करा दें।
  • प्रत्यक्ष या परोक्ष रुप से पीड़ित पक्ष को धमकी या प्रलोभन भी नहीं देंगी।
  • कोर्ट ने कहा कि शर्तों का उल्लंघन करने पर कोर्ट में अंतरिम जमानत के खिलाफ अर्जी दी जा सकती है।
  • कोर्ट ने अर्जी पर राज्य सरकार से 4 हफ्ते में जानकारी मांगी है।
  • अर्जी को सुनवाई के लिए 4 हफ्ते बाद पेश करने का निर्देश दिया है।

यह है मामला

दरअसल गोपीगंज थाना क्षेत्र के धनापुर दक्षिणी गांव निवासी कृष्ण मोहन तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी ने मकान कब्जाने व संपत्ति बेटे के नाम वसीयत कराने का प्रयास करने का मुकदमा चार अगस्त को गोपीगंज थाने में दर्ज कराया था। फिलहाल विधायक आगरा जेल में बंद हैं।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here