हाथरस केस- SIT-CBI की वजह से किसान की फसल बर्बाद, खड़ा हुआ रोटी का संकट, सामने आई ये चौंकाने वाली वजह…

0
42
.

हाथरस। उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितंबर को दलित युवती के साथ हुई कथित सामूहिक बलात्कार (Gang Rape) की घटना की जांच एसआईटी के बाद सीबीआई (CBI) ने अपने हाथ में ले ली है. यही नहीं, हाथरस के थाना चंदपा क्षेत्र के गांव बुलगढ़ी में हुई दलित युवती के मामले में किसी भी सबूत से छेड़छाड़ न हो इस वजह से पुलिस ने घटना स्थल को पूरी तरह जांच के लिए सीज कर दिया था.

ऐसे में अब खेत मालिक का कहना है कि अधिकारियों ने उसके खेत में बाजरे की फसल खड़ी थी उसमें न न पानी लगाने दिया और न ही फसल काटने दी, जिससे उसकी खड़ी फसल खराब हो गई है. जबकि हाथरस केस (Hathras Case) की वजह से फसल खराब होने से उसे लगभग 50 हजार रुपये का नुकसान हुआ है.

किसान ने सरकार से लगाई गुहार

अपनी फसल बर्बाद होने के बाद किसान ने यूपी सरकार से मुआवजा देने की गुहार लगाई है. किसान ने कहा कि उसके परिवार का जीवन यापन करने का खेती ही सहारा थी, लेकिन कथित सामूहिक बलात्कार को लेकर खेत मे खड़ी बाजरे की फसल खराब हो गई है, जिससे उसे रोटी का संकट पैदा हो गया है और अब सरकार ही उसकी मदद करे. आपको बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है. अब तक कोर्ट में पीड़िता के परिवार और हाथरस के अधिकारी अपना पक्ष रख चुके हैं.

गौरतलब है कि गत 14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र में 19 साल की एक दलित लड़की से अगड़ी जाति के चार युवकों ने कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया था. इस घटना के बाद हालत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाद में उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था, जहां गत 29 सितंबर को उसकी मृत्यु हो गई थी. इस घटना को लेकर विपक्ष ने राज्य सरकार पर जबरदस्त हमला बोला था. वहीं, अब इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया है.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here