Ganesh Rudraksha: गणेश रुद्राक्ष करें धारण शुभ फल की होगी प्राप्ति, यहां जानें इसे पहनने के नियम और फायदे के बारे में…

0
87
.

धर्म डेस्क। यूं तो  रुद्राक्ष(Rudraksh) शिव का ही रूप माना जाता है. एक मुखी, दो मुखी, पंच मुखी ऐसे कई तरह के रुद्राक्ष होते हैं जिन्हें धारण करने से अनेको फायदे मिलते हैं. इन्हीं में से एक है गणेश रुद्राक्ष(Ganesh Rudraksh). जिसने भी कई लाभ बताए जाते हैं. चूंकि इन रुद्राक्षों पर आंशिक रूप से भगवान गणेश की आकृत्ति उभरी हुई होती है इसीलिए इसे गणेश रुद्राक्ष कहा जाता है. कहते हैं बुधवार के दिन इसे धारण कर लिया जाए तो अत्यंत शुभ फल प्राप्त किए जा सकते हैं. चलिए बताते हैं क्या है इस चमत्कारिक रुद्राक्ष धारण करने के लाभ. लेकिन उससे पहले जानें की आखिर इस रुद्राक्ष की खासियत क्या है ?

गणेश रुद्राक्ष की विशेषताएं

कहते हैं यह रुद्राक्ष सफलता, सुख व समृद्धि का द्योतक माना जाता है. और इसे धारण करने से तमाम ऋद्धि-सिद्धियों की प्राप्ति की जा सकती है. शारीरिक लाभ के साथ साथ यह मनुष्य को मानसिक शांति भी प्रदान करता है. लेकिन ज़रुरी है कि प्राण प्रतिष्ठा करने के बाद ही इसे धारण किया जाए. चलिए अब  जानते हैं कि इसे धारण क्यों किया जाए और इसके क्या लाभ हैं. 

गणेश रुद्राक्ष के लाभ

अगर आपकी स्मरण शक्ति कुछ कमज़ोर हो गई है तो आपको गणेश रुद्राक्ष धारण करना चाहिए. कहते हैं इससे ना केवल याद्याश्त बढ़ती है बल्कि किसी भी कार्य को करने में एकाग्रता आती है.

अगर आपके बच्चों का मन पढ़ाई में नहीं लगता या फिर पढ़ाई से संबंधित किसी तरह की परेशानी का सामना वो कर रहे हैं तो उन्हें ये रुद्राक्ष धारण करवाएं. समस्या का समाधान हो जाएगा.

चूंकि गणेश बुद्धि व विवेक के देवता हैं इसीलिए गणेश रुद्राक्ष मनुष्य के विवेक को जगाता है और बढ़ाता है. वहीं इससे बुध ग्रह को भी मजबूती मिलती है.

मानसिक तनाव या मानसिक समस्याओं का निवारण भी गणेश रुद्राक्ष धारण करने से किया जा सकता है.

गणेश रुद्राक्ष व्यापार में भी अपार सफलता प्राप्त कराता है. अगर आपका व्यापार मंदा चल रहा है या फिर किसी तरह की अड़़चनें इसमें आ रही हैं तो आपको ये रुद्राक्ष धारण करने से अत्यंत लाभ मिलेगा. इससे ना केवल व्यापार में लाभ होगा बल्कि जीवन में भी सफलता का मार्ग खुल जाता है. 

बुधवार के दिन करें धारण

यूं तो गणेश रुद्राक्ष को गणेश चतुर्थी पर धारण करना उत्तम माना गया है लेकिन किसी भी हफ्ते के बुधवार को इसे धारण किया जा सकता है. इससे आपको वाकई लाभ होगा. 

 

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here