इस मुद्दे को लेकर उद्धव सरकार में आई दरार, मंत्रिमंडल की बैठक में आक्रामक हुई कांग्रेस

0
72
.

मुंबई। बिजली के बिलों में राहत देने को लेकर मंत्रिमंडल की बैठक में महा विकास आघाडी सरकार के मंत्रियों में गरमा-गरम बहस हुई, लेकिन बैठक किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सकी। तय किया गया कि इस संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ऊर्जा मंत्री नितिन राउत से अलग से बैठक करेंगे।

गौरतलब है कि बिजली के बिलों में राहत को लेकर प्रमुख विरोधी दल बीजेपी और राज ठाकरे की मनसे ने सरकार को चेतावनी दी है। इस संबंध में गुरुवार को मंत्रिमंडल की बैठक में बहस हुई। बताया जा रहा है कि महौल कांग्रेस बनाम शिवसेना और एनसीपी हो गया। बहस के दौरान किसी तरह का कोई निर्णय नहीं लिया जा सका।

बताया जा रहा है मुख्यमंत्री ठाकरे ने यह कहते हुए कांग्रेस को शांत किया गया कि इस बारे में वे खुद ऊर्जा मंत्री से अलग से बैठक करेंगे। बताया जा रहा है कि बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली के बिलों में आम आदमी को राहत देने के लिए उन्होंने आठ बार प्रस्ताव भेजा, लेकिन कोई निर्णय नहीं लिया गया। विपक्ष के आक्रामक रुख के बाद सरकार ने मंत्रिमंडल की बैठक में माना कि कोरोना काल के दौरान जिनके बिल ज्यादा आए हैं, उन्हें राहत देने की आवश्यकता है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here