IPL 2021 में बदल सकता है बड़ा नियम, प्‍लेइंग XI में हो सकते हैं सिर्फ 5 विदेशी खिलाड़ी, इन नियमों में होंगे बदलाव…

0
93
.

स्पोर्ट्स डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) का 13वां सीजन कुछ हफ्ते पहले ही यूएई में खत्म हुआ. कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस साल आईपीएल 2020 यूएई में खेला गया, जिसमें मुंबई इंडियंस ने जीत हासिल कर पांचवीं बार ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया. दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को पांच विकेट से मात दी. आईपीएल का 13वां सीजन खत्म होने के बाद अब फोकस आईपीएल 2021 है. बीसीसीआई और आईपीएल गवर्निंग काउंसिल न केवल लीग में नई टीम को शामिल करने पर विचार कर रही है, बल्कि लीग के 14 वें संस्करण में मेगा नीलामी और नियमों में कुछ बड़े बदलाव भी देख सकते हैं.

आईपीएल की कुछ फ्रेंचाइजी प्लेइंग इलेवन में 4 की जगह 5 विदेशी खिलाड़ियों के पक्ष में है. आईपीएल के पिछले 13 सीजन में प्लेइंग इलेवन में 4 विदेशी खिलाड़ी रखने का नियम था. बीसीसीआई के एक उच्च अधिकारी ने इस बात की पुष्टि कि है कि कुछ फ्रेंचाइजीज ने अनौपचारिक रूप से आईपीएल गवर्निंग काउंसिल से अनुरोध किया है कि प्लेइंग इलेवन में 5 वें विदेशी खिलाड़ियों को शामिल किया जाए.

बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, ”कुछ फ्रेंचाइजी पिछले कुछ सीजन से अनुरोध कर रही हैं कि प्लेइंग इलेवन में विदेशियों की संख्या बढ़ाई जाए. हालांकि, इस मुद्दे पर बीसीसीआई का विचार करना बाकी है. एक बार फिर से इस मुद्दे को लेकर कुछ फ्रेंचाइजीज ने अनुरोध किया है. ऐसे में हम इसे उचित फोरम पर लेंगे.” बीसीसीआई अधिकारी ने आगे कहा कि अगर लीग का विस्तार किया जाना है, तो यह स्पष्ट है कि कुछ नियमों में बदलाव होगा.उन्होंने कहा, ”अगर लीग का विस्तार किया जाता है तो कुछ नियमों और फॉर्मेट में जरूर बदलाव होगा, लेकिन अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.” जैसा कि आईपीएल के अगले सीजन में लीग का विस्तार होने की संभावना है. ऐसे में कुछ नियम, जिनमें बदलाव हो सकता है:

प्लेइंग फॉर्मेट:

रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईपीएल के अगले सीजन में 9-10 टीमें हो सकती हैं, इससे पहले तक आईपीएल के हर सीजन में 8 टीमें रही हैं. ऐसे में फॉर्मेट में बदलाव हो सकता है और आईपीएल गवर्निंग काउंसिल आईपीएल से रॉबिन राउंड हटा सकता है और इसके बजाय टीमों को ग्रुप में बांट सकता है.

प्लेइंग इलेवन में बढ़ सकती है विदेशी खिलाड़ियों की संख्या:

आईपीएल के वर्तमान नियम के तहत टीमें अपनी प्लेइंग इलेवन में चार से ज्यादा विदेशी खिलाड़ियों को नहीं खिला सकती. प्रतियोगिता की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए फ्रेंचाइजी प्लेइंग इलेवन में 5 विदेशी चाहती हैं. ऐसे में सबसे अधिक संभावना है कि आईपीएल मैनेजमेंट प्रतियोगिता की उच्च गुणवत्ता बनाए रखने के लिए विदेशी खिलाड़ियों की संख्या प्लेइंग इलेवन में 5 कर सकता है. ज्यादा विदेशी खिलाड़ियों के आने से यह टूर्नामेंट और भी प्रतियोगी और रोमांचक होगा.

पावर सर्ज:

आईपीएल जो नए आइडिया के लिए जाना जाता है, इस साल बिग बैश लीग की तर्ज पर पावर प्ले नियम में एक छोटा सा बदलाव कर सकता है. बीबीएल आगामी संस्करण से ‘पावर सर्ज’ नियम की शुरुआत कर रहा है. पावर सर्ज दो ओवर का पावर प्ले होगा, जिसे बल्लेबाजी टीम पारी के आखिरी 10 ओवरों के दौरान कभी भी ले सकती है. इस दौरान 30 गज के दायरे के बाहर सिर्फ दो फील्डरों को रखने की स्वीकृति होगी. पावर सर्ज को जगह देने के लिए प्रत्येक पारी की शुरुआत में होने वाले छह ओवर के पावर प्ले को घटाकर चार ओवर का कर दिया जाएगा. आईपीएल भी इस नियम को ला सकता है.

एक्स फैक्टर खिलाड़ी:

बीबीएल के नए नियमों के तहत टीमों को मैच में 10वें ओवर के बाद एक एक्स फैक्टर खिलाड़ी का इस्तेमाल करने की स्वीकृति होगी, जो एक बल्लेबाज या फील्डिंग टीम में एक गेंदबाज की जगह लेगा, जिसने एक ओवर से अधिक गेंदबाजी नहीं की हो. बीबीएल के इस नए नियम को आईपीएल भी अपना सकता है.
Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here