Hathras Case: पीड़ित परिवार की सुरक्षा में लगे हैं CRPF के 80 जवान, रोजाना 1.50-1.75 लाख रुपये हो रहे खर्च

0
108
.

हाथरस। हाथरस कांड (Hathras Case) की पीड़िता की मौत हो चुकी है. इस जघन्‍य घटना को अंजाम देने वाले चारों आरोपी जेल में हैं और सीबीआई (CBI) मामले की जांच कर रही है. रविवार को ही आरोपियों को पॉलीग्राफी टेस्ट के लिए गुजरात ले जाया गया है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश पर पीड़िता के परिवार की सुरक्षा की जा रही है.

सुरक्षा के लिए केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 80 जवानों को तैनात किया गया है. तीन शिफ्ट में जवान डयूटी दे रहे हैं. 1 नवंबर को ही जवानों की तैनाती कर दी गई थी. जवान अभी भी गांव में तैनात हैं. एक अनुमान के मुताबिक 22 दिन से 80 जवानों पर 1.5 लाख रुपये हर रोज़ खर्च हो रहे हैं;

सीआरपीएफ के रिटायर्ड आईजी वीपीएस पनवर का कहना है कि जब सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ के जवान जाते हैं तो वो मूवमेंट कंपनी के हिसाब से होती है. उस एक कंपनी में एडमिन स्टाफ समेत, कुक, नाई, वाशरमैन और फील्ड डयूटी करने वाले जवान शामिल होते हैं. अगर हाथरस वाले मामले में 80 जवान फील्ड डयूटी में हैं तो उनके साथ और भी लोग होंगे.

वीपीएस पनवर की मानें तो वहां पूरी कंपनी होगी. वैसे एक कंपनी 72 और 126 लोगों की होती है और जब भी इस तरह की ड्यूटी का खर्च निकाला जाता है तो वो पूरी कंपनी के हिसाब से निकलता है, जिसकी भरपाई सरकार (मतलब हाथरस के केस में यूपी सरकार) करेगी.

सैलरी और राशन के हिसाब हर रोज़ आ रहा है इतना खर्च

सीआरपीएफ से रिटायर्ड आरएस यादव का कहना है कि हाथरस वाले मामले में अगर हम 80 जवानों को ही मान लें तो उनका खर्च भी हर रोज़ का करीब डेढ़ से पौने दो लाख रुपये होता है. अगर हम सैलरी का एवरेज लगाएं तो 1.5 हज़ार रुपये प्रति जवान के हिसाब से 1.20 लाख रुपये रोज़ के होते हैं. इसके अलावा सुबह का नाश्ता, दोपहर और रात का खाना भी है. जब जवान फील्ड डयूटी में होते हैं तो और दूसरे खर्च भी होते हैं. इस हिसाब से एक जवान पर करीब पौने दो हज़ार का खर्च आता है.
Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here