कंगना और बीजेपी पर लगातार हमलावर थे सरनाईक, NCP चीफ शरद पवार ने ईडी की रेड को गलत बताया

0
85
.

ठाणे. प्रताप सरनाईक शिवसेना के टिकट पर ठाणे शहर के माजीवाड़ा सीट से लगातार तीन बार विधायक चुने गए हैं। सरनाईक तब सुर्खियों में आए थे। जब फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच में विवाद चरम पर था और कंगना रनौत ने मुंबई आने की धमकी दी थी। उस समय प्रताप सरनाईक ने भी कहा था कि कंगना रनौत की भाषा सभ्य नहीं है और शिवसेना की महिला विंग उन्हें जरूर सबक सिखाएगी।

इसके अलावा जब कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से की थी। उस वक्त भी दोनों तरफ से काफी आरोप-प्रत्यारोप हुए थे। तब भी प्रताप सरनाईक ने बड़ी बेबाकी से अपनी बात रखी थी। इसके अलावा कंगना रनौत के घर पर बीएमसी की कार्रवाई को भी प्रताप सरनाईक ने वाजिब ठहराया था। सियासी गलियारों में अब यह चर्चा भी शुरू है कि अपनी बेबाकी की कीमत चुका रहे हैं सरनाईक।

शरद पवार कहा ईडी का दुरूपयोग हो रहा है

एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने भी प्रताप सरनाईक के घर पर हुई ईडी की रेड को गलत बताया है। पवार ने कहा कि सत्ता का उपयोग अपने राजनीतिक विरोधियों को दबाने के लिए करना बिल्कुल अनुचित है। सत्ता न होने की वजह से महाराष्ट्र में कुछ लोग अनर्गल बातें कर रहे हैं।

सरनाईक के बचाव में उतरे राउत

ईडी की रेड के बाद एक बार फिर से महाराष्ट्र सरकार (maharashtra government) और केंद्र सरकार आमने सामने आ गए गए हैं। शिवसेना नेता संजय राउत ने सरनाईक का बचाव करते हुए कहा है कि अगर महाराष्ट्र में एजेंसी का उपयोग करके कोई यहां की सरकार को गिराना चाहता है तो वह मूर्ख है। ऐसा बिल्कुल नहीं होने वाला है। महाविकास अघाड़ी सरकार के तीनों घटक दल एक साथ में हैं। उनका एक-एक विधायक पार्टी और सरकार के साथ है।

केंद्र सरकार, केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरूपयोग करके महाराष्ट्र में विधायकों पर दबाव बनाने का प्रयास कर रही है। लेकिन यह रणनीति यहां पर काम नहीं आने वाली है। केंद्र सरकार दोबारा महाराष्ट्र को बदनाम करने का षड्यंत्र रच रही है। बीजेपी और केंद्र सरकार चाहे कुछ भी कर लें, हम घुटने टेकने वाले नहीं हैं। राउत ने कहा कि ऐसे कई मामले हैं जो केंद्र सरकार से जुड़े हुए हैं लेकिन उन पर कोई भी जांच नहीं होती है।

सरनाईक के घर पर ईडी की रेड

शिवसेना के विधायक और प्रवक्ता प्रताप सरनाईक के ठाणे शहर स्थित घर पर प्रवर्तन निदेशालय (enforcement directorate) यानी एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट के अधिकारियों ने रेड डाली है। ईडी के अधिकारियों द्वारा प्रताप सरनाईक के परिजनों के फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन (आर्थिक लेन-देन) की जांच की जा रही है। मुंबई और ठाणे समेत 10 जगहों पर रेड की बात सामने आ रही है। खबरों के मुताबिक यह रेड टॉप सिक्योरिटी ग्रुप और विधायक प्रताप सरनाईक के बीच हुए आर्थिक लेन-देन को लेकर हुई है। प्रताप सरनाईक के बेटे विहंग सरनाईक को ईडी पूछताछ के लिए दक्षिण मुंबई स्थित अपने कार्यालय ले गयी है।

किस मामले में हुई रेड?

प्रवर्तन निदेशालय ने यह छापेमारी किस मामले में की है। इसका अधिकृत रूप से अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है। प्रवर्तन निदेशालय को शक है कि प्रताप सरनाईक और उनके परिवार ने अपने फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन को छिपाया है। इसके अलावा कोई और भी घोटाला इसकी आड़ में किया गया है क्या? इसकी जांच ईडी के अधिकारी कर रहे हैं। प्रताप सरनाईक खुद एक रियल एस्टेट डेवलपर हैं। शिवसेना में उनको एक तेेजतर्रार नेता के तौर पर जाना जाता है।

ईडी के दुरुपयोग का आरोप लगाती रही है

केंद्र की भाजपा सरकार पर शिवसेना अक्सर केंद्रीय जांच एजेंसी खासतौर पर ईडी के दुरुपयोग का आरोप लगाती रही है। फिलहाल शिवसेना ने भी इसे बदले की राजनीति और भाजपा के विरुद्ध बोलने वाले नेताओं की आवाज को दबाने का प्रयास बताया है। प्रताप सरनाईक या उनके परिवार ईडी की तरफ से किसी भी प्रकार का समन भी नहीं भेजने की बात सामने आ रही है। वहीं बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा कि ईडी बिना होम वर्क के नहीं जाएगी। अगर सरनाईक ने भ्रष्टाचार किया होगा तो कार्रवाई होनी चाहिए।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here