Chinese App बैन होने से भारत के सामने गिड़गिड़ाया चीन, कही ये बड़ी चौंकाने वाली बात

0
230
.

नई दिल्ली। भारत ने 43 App पर लगाया बैन चीन ने जताया कड़ा विरोधभारत के कदम को बताया WTO के नियमों के खिलाफ चीन ने बुधवार को भारत के Chinese App बैन करने के फैसले को लेकर आपत्ति जाहिर की है. भारत ने मंगलवार को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए चीनी मूल के 43 App बैन कर दिए थे. चीन ने भारत के इस कदम को विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन करार दिया है.

लद्दाख में मई महीने में भारत और चीन की सेना के बीच हुई झड़प के बाद से ये चौथी बार है जब भारत ने चीनी मूल के ऐप पर बैन लगाया है. अब तक, भारत करीब 267 Chinese App पर बैन लगा चुका है.

‘राष्ट्रीय सुरक्षा का बहाना ना बनाए भारत’

भारत स्थित चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी रोंग ने कहा, चीन से जुड़े मोबाइल ऐप्स को बैन करने के लिए भारत लगातार राष्ट्रीय सुरक्षा का सहारा ले रहा है. इसका हम कड़ा विरोध करते हैं.

जी ने भारत से Chinese App पर लगाए गए प्रतिबंध हटाने की मांग करते हुए कहा है कि ये कदम विश्व व्यापार संगठन के नियमों के खिलाफ है. उन्होंने कहा, हमें उम्मीद है कि भारतीय पक्ष चीन समेत सभी देशों के लिए बिना भेदभाव के बाजार में पहुंच सुनिश्चित करेगा और विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन करने वाले कदमों को वापस लेगा.

जी ने कहा, चीन की सरकार ने लगातार दोहराया है कि चीनी कंपनियां अंतरराष्ट्रीय नियमों का पालन करें और कानून और नैतिकता के दायरे में रहते हुए ऑपरेट करें.

‘भारत और चीन एक-दूसरे के लिए खतरा नहीं’

चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी ने कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे के लिए खतरे के बजाय विकास के अवसरों का प्रतिनिधित्व करते हैं. दोनों पक्षों को पारस्परिक हितों के लिए द्विपक्षीय आर्थिक और व्यापारिक रिश्तों को सही दिशा में आगे बढ़ाना चाहिए. दोनों देशों को बातचीत के जरिए एक-दूसरे के लिए सकारात्मक माहौल बनाना चाहिए.

भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से तनाव बना हुआ है. दोनों देशों के बीच कई दौर की सैन्य और राजनयिक स्तर की बातचीत भी हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकल सका है. दोनों तरफ की सेनाएं सर्दियों में भी डटी हुई हैं. भारत भी फॉरवर्ड एरिया में अपने सैनिकों को गर्म कपड़े और अन्य सुविधाएं मुहैया कराने में लगा हुआ है.

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here